December 6, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

‘हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा, इसलिए हर किसी को थोड़ी-बहुत आनी चाहिए’ Zomato के इस जवाब पर बवाल

चेन्नई: फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो एक बार फिर सुर्खियों में है। इस बार मामला हिंदी भाषा को लेकर दी गई सलाह है। चेन्नई के एक ग्राहक ने आरोप लगाया है कि कंपनी के एक कर्मचारी ने हिंदी भाषा को लेकर उससे बहस की। ग्राहक ने इस बहस की चैट का स्क्रीनशॉट ट्विटर पर शेयर कर दिया, जिसके बाद खुद जोमैटो ने सार्वजनिक तौर से माफी मांगी है।

दरअसल, विकास नाम के शख्स ने Twitter पर Zomato के कर्मचारी के साथ अपनी बातचीत के स्क्रीनशॉट ट्वीट किए। विकास को अपना ऑर्डर रिसीव करने में समस्या हो रही थी, जिसके लिए उसने कर्मचारी को रेस्तरां से संपर्क करने के लिए कहा, जिस पर जोमैटो के कर्मचारी ने विकास को बताया कि उन्होंने रेस्तरां को पांच बार फोन करने की कोशिश की, लेकिन “भाषा की बाधा” के कारण उनसे सही से बात नहीं हो सकी।

इस पर विकास ने कहा कि यदि Zomato तमिलनाडु में सेवाएं दे रहा है, तो उसे भाषा को समझने के लिए एक तमिल भाषी व्यक्ति को काम पर रखना चाहिए। उसने जोमैटो कर्मचारी से पैसे रेस्तरां से रिफ़ंड करवाने के लिए कहा। जवाब में कर्मचारी ने कहा- “आपकी जानकारी के लिए हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है। इसलिए यह बहुत आम बात है कि हर किसी को थोड़ी-बहुत हिंदी आनी चाहिए।”

जैसे ही यह मामला सोशल मीडिया पर उछला जोमैटो ने खुद ट्वीट कर माफी मांग ली। कंपनी ने जोर देकर कहा कि कर्मचारी की टिप्पणी भाषा और विविधता पर जोमैटो के रुख का प्रतिनिधित्व नहीं करती है। फिलहाल जोमैटो ऐप के एक तमिल संस्करण पर भी काम चल रहा है। कंपनी इस मामले की जांच कर रही है।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!