December 2, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

बॉर्डर से दुःखद खबर: उत्तराखंड का जवान शहीद, 4 साल पहले हुई थी शादी, तीन दिन बाद आना था घर

उत्तराखंड के एकबार लाल ने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। सियाचिन ग्लेशियर में लैंड स्लाइडिंग होने से हवलदार जगेंद्र सिंह चौहान शहीद हो गए। शहीद का पार्थिव शरीर 23 फरवरी तक पहुंचने की उम्मीद है। जगेंद्र सिंह के शहीद होने की सूचना मिलते ही गांव में शोक का माहौल है।

कान्हरवाला भानियावाला निवासी जगेंद्र सिंह चौहान के मामा सेवानिवृत्त कैप्टन मनवीर सिंह बिष्ट ने जगेंद्र सिंह चौहान (35) पुत्र सेवानिवृत्त सूबेदार मेजर राजेंद्र सिंह चौहान के शहीद होने की जानकारी दी। 35 वर्षीय जगेंद्र सिंह भारतीय सेना की 325 लाइट एडी बटालियन में हवलदार के पद पर तैनात थे। वह वर्ष 2007 में सेना में भर्ती हुए थे। वर्तमान में उनकी बटालियन सियाचिन ग्लेशियर में तैनात है।

पैट्रोलिंग के दौरान लैंड स्लाइडिंग होने के कारण जगेंद्र सिंह शहीद हो गए। जगेंद्र सिंह चौहान 25 फरवरी को घर आने वाले थे। इससे पूर्व हो उनके शहीद होने की सूचना आ गई। उनके शहीद होने की सूचना मिलते ही पत्नी किरन चौहान और माता विमला चौहान गहरे सदमे में हैं। करीब चार साल पहले उनका विवाह हुआ था। जगेंद्र के पिता राजेंद्र सिंह चौहान भी सेना से सूबेदार मेजर पद से सेवानिवृत्त हैं। 

पूर्व ग्राम प्रधान नरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि, मूलरूप से भनस्वाड़ी, थत्यूड़ ब्लॉक, टिहरी गढ़वाल निवासी राजेंद्र सिंह चौहान पिछले 2007 से कान्हरवाला भानियावाला में निवास कर रहे थे। जगेंद्र सिंह चौहान के शहीद होने की सूचना मिलते ही गांव में शोक छा गया। लोग संवेदनाएं व्यक्त करने के लिए शहीद के आवास पर पहुंचने लगे हैं।

The post बॉर्डर से दुःखद खबर: उत्तराखंड का जवान शहीद, 4 साल पहले हुई थी शादी, तीन दिन बाद आना था घर appeared first on Bharatjan Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar.

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!