December 6, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

मेधावी छात्रों को 40-40 हजार रुपये देगी धामी सरकार, आचार संहिता से पहले DBT से खातों में आएगा पैसा

देहरादून: उत्तराखंड में मेधावी छात्रों को धामी सरकार 40-40 हजार रुपये देगी। यह राशि उत्तराखंड बोर्ड के 10वीं और 12वीं के मेधावी छात्र-छात्राओं को सरकार लैपटॉप खरीदने के लिए देगी। सरकार इस कोशिश में है कि आचार संहिता लगने से पहले मेधावियों को लैपटाप की धनराशि मिल ही जाए।

प्रदेश सरकार की ओर से उत्तराखंड बोर्ड के वर्ष 2019-20 के मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटॉप दिए जाने का निर्णय लिया गया था। प्रदेश के मेधावी छात्रों को लैपटॉप बांटने के वायदे को सरकार अब जल्द ही पूरा करने जा रही है। शिक्षा विभाग छात्रों को लैपटॉप की रकम डीबीटी के माध्यम से उनसे खाते में ट्रांसफर करेगा। इससे पहले सरकार लैपटॉप देने पर विचार कर रही थी, लेकिन लैपटॉप खरीद के नाम पर गड़बड़ी की आशंका और लैपटॉप खरीद के लिए अब तक टैंडर भी नहीं निकाले जाने से सरकार ने यह फैसला लिया है। दूसरा प्रदेश में चुनाव बेहद नजदीक हैं। ऐसे में लैपटॉप खरीद की प्रक्रिया को पूरा कर पाना सरकार के लिए मुश्किल दिखाई दे रहा है।

लिहाजा, सरकार ने निर्णय लिया है कि वह 10वीं और 12वीं के मेधावी छात्रों को लैपटॉप ना देकर सीधे डीबीटी से उनके खाते में रकम भेजेगी। इसके लिए सरकार पहले ही ₹50 लाख की व्यवस्था कर चुकी है। उत्तराखंड बोर्ड के 10वीं और 12वीं की मेरिट सूची में टॉप 25 में आए छात्र-छात्राओं के खातों में यह रकम दी जाएगी। बताया जा रहा है कि, विभाग ने इसके लिए विद्यालयी शिक्षा परिषद रामनगर से ऐसे छात्र-छात्राओं की सूची मंगा ली है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक उत्तराखंड बोर्ड के 10वीं और 12वीं के टॉप 25 छात्र-छात्राओं में करीब 125 छात्र-छात्राएं इस दायरे में आ रहे हैं। जिन्हें लैपटॉप के लिए धनराशि दी जाएगी।

शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी के मुताबिक विभाग की ओर से प्रयास किया जा रहा है कि जल्द से जल्द मेधावी छात्रों को डीबीटी के माध्यम से लैपटॉप की रकम दे दी जाए। इसके लिए 50 लाख रुपये की व्यवस्था की गई है। शासन से आदेश मिलते ही छात्रों को इसके लिए धनराशि दे दी जाएगी।

वहीं बीते अक्टूबर माह में सरकार ने छात्र-छात्राओं को टैबलेट देने का निर्णय लिया था। अब सरकार डीबीटी के माध्यम से छात्र-छात्राओं के खाते में 12-12 हजार की धनराशि उपलब्ध कराने पर विचार कर रही है। इस राशि से छात्र-छात्राओं को टैबलेट खरीद सुनिश्चित करनी होगी। इसका बिल भी विभाग को देना होगा। यह राशि प्रदेश के समस्त महाविद्यालयों और उत्तराखंड बोर्ड के 10वीं और 12वीं के 2.59 लाख छात्र-छात्राओं को इसी महीने  मिल जाएंगे। मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने कहा कि सरकारी स्कूलों में कक्षा 10, 12 और सरकारी कालेजों में पढ़ने वाले छात्रों को टैबलेट दिए जाएंगे। डीबीटी के माध्यम से उनके खातों में पैसा ट्रांसफर किया जाएगा और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी सरकारी विश्वविद्यालय, स्कूल इन छात्रों को टैबलेट खरीदने में मदद करें।

विभाग की इसके लिए 25 दिसंबर को विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में समारोह आयोजित करने की तैयारी कर ली है। टैबलेट के पैसे देने के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में कार्यक्रम आयोजित होंगे। हर विधान सभा क्षेत्र के कार्यक्रम में 100-100 बच्चों को बुलाने की तैयारी की गई है। फिलहाल कुछ विधानसभा क्षेत्रों के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों को नोडल अधिकारी बना दिया गया है।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!