December 1, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

उत्तराखंड में जहां मिला था पहला कोरोना मरीज, तीसरी लहर की आशंका के बीच आज वहां फिर 11 अधिकारी पॉजिटिव, मचा हड़कंप

देहरादून: उत्तराखंड में पहली बार कोरोना वायरस की एंट्री जिस जगह से हुई वहां एक बार फिर कोरोना वायरस के 11 मामले सामने आए हैं। जी हां, उत्तराखंड में पहली बार कोरोना का मामला देहरादून के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी (FRI) देहरादून में मिला था। अब कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच एक बार फिर FRI में 11 अधिकारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। एक साथ इतने मामले आने से हड़कंप मचा हुआ है।

बता दें कि, देश के कई हिस्सों समेत उत्तराखंड में भी  कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में एक बार फिर कोरोना वायरस को लेकर चिंता बढ़ रही है। FRI के अपर निदेशक डा. एसके अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि, 48 अधिकारियों का दल पहले लखनऊ ट्रेनिंग पर था और इसके बाद दिल्ली में ट्रेनिंग के लिए गया। दिल्ली से दून प्रस्थान के दौरान सभी के सैंपल लिए गए थे, जिसमें 08 अधिकारी संक्रमित पाए गए। इसके बाद दून में सभी 48 की सैंपलिंग की गई तो तीन अन्य की भी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। यहां अब कुल संक्रमितों की संख्या 11 पहुंच गई है। सभी को एफआरआई देहरादून (FRI DEHRADUN) परिसर स्थित हॉस्टल में आइसोलेटे कर दिया गया है।

11 आइएफएस (IFS) के अलावा 07 अन्य लोग भी कोरोना वायरस से संक्रमित मिले हैं। तिब्बती समुदाय के 07 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें 03 क्लेमेनटाउन क्षेत्र से हैं, जबकि 04 सहस्रधारा रोड स्थित तिब्बतन कालोनी से हैं।

आपको बता दें कि, स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज जारी ताजा कोरोना रिपोर्ट के अनुसार, इस समय प्रदेश में 137 कोरोना सक्रिय मरीज हैं, जिनका उपचार किया जा रहा है। इनमे से भी सबसे अधिक एक्टिव केस देहरादून में है। यहां 111 सक्रिय मरीज हैं। वहीं सार्वजनिक जगहों पर लोग मास्क को लेकर भी लापरवाह हो रहे हैं।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!