November 27, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

पूर्व सीएम हरीश रावत बोले- मुस्लिम विश्वविद्यालय की अफवाह भाजपा की डर्टी लाइब्रेरी में बनकर हुई तैयार

देहरादून: उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए प्रदेश की सभी 70 सीटों पर 14 फरवरी को मतदान होने हैं। समय कम होने के कारण सभी प्रत्याशियों की व्यस्तताएं बढ़ गई हैं। यह चुनाव पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत के लिए भी काफी अहमियत रखता है।

माना जाता है कि हरीश रावत उत्तराखंड के ऐसे विरले नेताओं में हैं जो पहाड़ के दुर्गम से दुर्गम तक के गांवों में पहुंचे हैं। वह 73 साल की उम्र में फुटबाल और कबड्डी खेलते हुए नजर आते हैं, तो सुबह से लेकर देर रात तक लगातार प्रचार अभियान में बिना थके डटे हैं। कहा जाता है कि वह कांग्रेस के ऐसे नेता हैं जो अगर चुनाव हारते भी हैं तो अगले चुनाव में दोगुनी ताकत और ऊर्जा के साथ सामने आते हैं। तमाम व्यस्तताओं के बावजूद हरीश रावत जिन्हें उत्तराखंड के लोग सम्मान में “हरदा” भी कहते हैं।

वहीं उत्तराखण में मुस्लिम विश्वविद्यालय को लेकर पीएम और सीएम कांग्रेस पर हमलावर हैं। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि, यह बिल्कुल मनगढंत बात है, जो भाजपा की डर्टी लाइब्रेरी में बनकर तैयार हुई है। ठीक वैसे ही जैसे वह हरीश रावत की दाढी और टोपी में फोटो लेकर आए और दुष्प्रचार किया। चुनाव के दौरान भाजपा ऐसी ही गंदी राजनीति करती है। जब उनके पास जनता को बताने के लिए कुछ नहीं है तो वह कुछ भी अनाप-शनाप बोल रहे हैं।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!