December 2, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

तैयारी कर रहे युवाओं के लिए प्रेरणा: ग्राम प्रधान ने पास की भर्ती परीक्षा, मिल गई सरकारी नौकरी

चंपावत: उत्तराखंड में एक ग्राम प्रधान ने अपने काम के साथ-साथ सरकारी नौकरी के लिए भी प्रयास किया। प्रधान जी का यह प्रयास सफल हुआ और उन्हें सरकारी नौकरी मिल गई। वह निर्विरोध प्रधान बने थे। अब सरकारी नौकरी मिलने के बाद उन्होंने ग्राम प्रधान पद से इस्तीफा देकर विभाग में चार्ज ग्रहण कर लिया है। इस तरह ग्राम प्रधान ने प्रदेश के हजारों उन युवाओं के लिए एक मिसाल पेश की है, जो सरकारी नौकरी की तैयारी में जुटे हैं।

आपको बता दें कि इस भर्ती के लिए रिकॉर्ड बेरोजगार युवाओं ने आवेदन किए थे। ऐसे में ग्राम प्रधान रवि का सीधे तौर पर ऐसे बेरोजगार युवाओं से कंपटीशन था जो दिन-रात सरकारी नौकरी पाने के लिए मेहनत में जुटे थे, लेकिन रवि पर ग्राम प्रधान होने के नाते गांव के विकास का भी जिम्मा था। बावजूद अपनी कड़ी मेहनत के बूते उन्होंने हजारों युवाओं को पछाड़कर मेरिट में जगह बनाई।

सरकारी नौकरी पाने वाले रवि कुमार चंपावत जिले के ग्राम सभा ज्ञानखेड़ा के प्रधान हैं। जिनका वन विभाग में वन आरक्षी (Forest Guard) पद पर चयन हो गया है। शिक्षित होने के कारण ग्रामीणों ने उन्हें ग्राम पंचायत ज्ञानखेड़ा का निर्विरोध ग्राम प्रधान पद पर आसीन किया था। अब उन्होंने सरकारी नौकरी पाने के बाद ग्राम प्रधान पद से इस्तीफा जिला पंचायत राज अधिकारी चम्पावत को सौंप दिया है।

लगातार बढ़ती बेरोजगारी के बीच सरकारी नौकरी पाना किसी उपलब्धि से कम नहीं है। उनकी इस सफलता से उनके परिवार में हर्षोल्लास का माहौल है और पूरे गांव में खुशी की लहर है। रवि ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और गुरुजनों के साथ ही अपनी कड़ी मेहनत को दिया है।

उनकी इस सफलता पर विधायक कैलाश गहतोड़ी, पूर्व विधायक हेमेश खर्कवाल, पालिका अध्यक्ष विपिन कुमार वर्मा, जिला पंचायत सदस्य किरन देवी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य उर्मिला चन्द, ग्राम प्रधान राधिका चन्द, मोहिनी चन्द, पूजा जोशी, भवानी देवी, पूर्व ग्राम प्रधान कमला चन्द, पुष्पा आदि ने बधाई दी है।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!