7 December 2023

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रूड़की में रासायनिक अभियांत्रिकी विभाग के संस्थापक प्रमुख की स्मृति में जेबी लाल मेमोरियल व्याख्यान किया गया आयोजित

 

रुड़की : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रूड़की (आईआईटी रूड़की) के रासायनिक अभियांत्रिकी विभाग ने प्रतिष्ठित जेबी लाल मेमोरियल व्याख्यान की मेजबानी कीजो विभाग के संस्थापक प्रमुख, प्रोफेसर जेबी लाल को श्रद्धांजलि हैजिन्होंने 1966 से 1969 तक संस्थान को अपनी सेवा प्रदान की। इस आयोजन ने संस्थान में उनकी विरासत एवं योगदान का सम्मान प्रदान करने हेतु एक मंच के रूप में कार्य किया। व्याख्यान का आरंभ प्रोफेसर अंशू आनंद के हार्दिक स्मरण के साथ हुईजिसमें प्रोफेसर जेबी लाल की उल्लेखनीय विरासत व विभाग की नींव को आकार देने में उनके अमूल्य योगदान को दर्शाया गया।

विभागाध्यक्ष प्रोफेसर प्रकाश विश्वास ने आमंत्रित वक्ताआईआईटी कानपुर के प्रतिष्ठित पूर्व प्रोफेसर दीपक कुंजरू का परिचय दिया। प्रोफेसर कुंजरू ने उपस्थित सदस्यों के समकक्ष “रिसेंट एडवानसेस इन कार्बन डाइऑक्साइड कैप्चर, डेलिविंग इंटू द लेटैस्ट डेवेलपमेंट्स इन दिस क्रिटिकल फील्ड व पर्यावरणीय चिंताओं विषयों पर संबोधित करते हुए प्रकाश डाला।

इस कार्यक्रम को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रूड़की के निदेशक प्रोफेसर केके पंत से सम्मानित संरक्षण प्राप्त हुआ, जिनकी उपस्थिति व समर्थन ने इस अवसर के महत्व को और उजागर किया। उनका कहना है कि “आज का व्याख्यान प्रोफेसर जेबी लाल के अग्रणी कार्य के लिए एक उपयुक्त श्रद्धांजलि थी, यह अपने समृद्ध इतिहास का सम्मान करने व रासायनिक अभियांत्रिकी के क्षेत्र में अत्याधुनिक अनुसंधान को आगे बढ़ाने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रूड़की की प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।”

इसके अलावा, इस कार्यक्रम में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रूड़की के रासायनिक अभियांत्रिकी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर बिस्वास की ज्ञानवर्धक प्रवचन टिप्पणियाँ देखी गईं। जेबी लाल मेमोरियल लेक्चर प्रोफेसर जेबी लाल के योगदान को पहचानने और केमिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में विभाग के चल रहे प्रयासों को प्रदर्शित करने के लिए एक मंच के रूप में कार्य करता है। यह अकादमिक समुदाय को एक साथ आने और क्षेत्र में प्रासंगिक और समसामयिक विषयों पर सार्थक चर्चा में शामिल होने का अवसर प्रदान करता है।