December 6, 2022

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

केजरीवाल का बड़ा चुनावी दांव, उत्तराखंड में सरकार बनने पर 6 नए जिले, महिलाओं को मिलेंगे प्रतिमाह 1-1 हजार

काशीपुर: उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव 2022 से पहले सभी राजनीतिक दल जनता से कई लुभावने वादे कर रहे हैं। उत्तराखंड में अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहे आम आदमी पार्टी (AAP) के मुखिया अरविंद केजरीवाल आज मंगलवार को काशीपुर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने उत्तराखंड के लिए अपनी चौथी घोषणा की। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में सरकार बनेगी तो प्रदेश में 18 वर्ष से ऊपर की हर महिला के अकाउंट में हर माह 1000-1000 रुपये डाले जाएंगे। जिन माताओं को बुढ़ापा पेंशन मिल रही है, उनको पेंशन मिलती रहेगी। इसके अलावा हजार रुपये महीने आएंगे। केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड नवनिर्माण में महिला सशक्तिकरण का अहम योगदान होगा।

केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड में हजारों लाखाें ऐसी बेटियां हैं जिनके पैसे के अभाव में उनकी पढ़ाई छूट जाती है। कालेज जाने से वंचित बेटियों को हजार रुपये मिलेंगे तो वह कालेज जा सकती हैं। पति से महिलाएं पैसे मांगती हैं। पति देता नहीं है। अब पति का मुंह देखने की जरूरत नहीं है। अब पति के पैसों से नहीं अपने खाते में आने वाले पैसों से साड़ी खरीद सकेंगे। बुजुर्ग महिलाएं पैसे जमा करके रखती हैं कि बेटी आएगी तो उसको कुछ उपहार देना है। बेटी मायके आती है तो मां सौ रुपए मुश्किल से दे पाती है। अब वह हजार रुपये दे पाएगी।

वहीं चुनाव से पहले आप पार्टी की ने एक मास्टर स्ट्रोक खेला है। काशीपुर रामलीला मैदान में अरविंद केजरीवाल ने प्रदेशवासियों से बड़ा वादा करते हुए 6 नए जिले बनाने की घोषणा की है। केजरीवाल ने कहा कि ‘प्रदेश में आम आदमी पार्टी की सरकार आने पर 6 माह के भीतर काशीपुर समेत 6 अन्य जिले बनाए जाएंगे।’

लंबे समय से काशीपुर सहित प्रदेश में छह जिले बनाने की मांग को अपने एजेंडे में शामिल करते हुए केजरीवाल ने कहा कि, काशीपुर सहित 06 नए जिले सरकार बनने के एक माह के भीतर बनाए जाएंगे। कहा कि, काशीपुर,रानीखेत, डीडीहाट, रुड़की, कोटद्वार व यमुनोत्री शामिल है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं पिछले तीन-चार माह में कई बार उत्तराखंड आया हूं। और मैं जब भी यहां आता हूं तो एक गारंटी देकर जाता हूं। मैं ऐसा इसलिए करता हूं, क्योंकि सालों से यहां दूसरी पाटियों ने वादे किए और बाद में भूल गए। कहा कि मैं जब गारंटी देकर जाता हूं तो आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता कार्ड लेकर घर-घर जाते हैं और लोगों के साइन करवाते हैं। ताकी बाद मैं अगर हम मुकरें तो जनता के पास हमारी गारंटी का सबूत रहे। अगर मैं इन घोषणाओं को पूरी न करूं तो मेरे ऊपर केस कर देना।हमारी गारंटी से यहां के नेताओं को इतनी परेशानी हो रही है कि वह कोर्ट पहुंच रहे हैं।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!