January 28, 2023

उत्तराखंड जन

जन-जन की आवाज..

coronavirus

कोरोना की संभावित तीसरी लहर के बीच उत्तराखंड में विशेष सतर्कता, 03 जिलों में बनाए गए कंटेंटमेंट जोन; जानिए ताजा आंकड़े

देहरादून: कोरोना की संभावित तीसरी लहर और नए वेरिएंट ओमिक्रोन को लेकर उत्तराखंड में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। सीमा पर लगातार जांच के साथ ही प्रदेश के अंदर भी जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है। वहीं अधिक संक्रमित वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर उन्हें कंटेंटमेंट जोन बनाया जा रहा है, जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। वर्तमान में प्रदेश के 3 जिलों में कुल चार कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। इनमें से देहरादून जिले में तिब्बती कॉलोनी सहस्त्रधारा रोड और एफआरआई; नैनीताल जिले में शेरवूड स्कूल स्टाफ क्वार्टर तल्लीताल और उधम सिंह नगर जिले के किच्छा में वार्ड नंबर 5 भांडिया भट्टानगर को कंटेंटमेंट जोन बनाया गया है।

वहीं उत्तराखंड में पिछले चौबीस घंटों में कोरोना के 10 नए मामले सामने आए हैं। राहत की खबर यह है कि, किसी भी कोरोना संक्रमित की मौत नहीं हुई है। जबकि पांच कोरोना संक्रमित ठीक हुए हैं। इस समय प्रदेश में 187 सक्रिय मरीज हैं, जिनका उपचार किया जा रहा है। 

प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कुल 3 जिलों में ही नए मामले सामने आए हैं। इनमें से देहरादून में छह, नैनीताल में तीन और चंपावत में एक नया मामला सामने आया।

प्रदेश में एक्टिव केस की बात करें तो इस समय सबसे ज्यादा सक्रिय मामले देहरादून में है। देहरादून में 58, नैनीताल में 50, पौड़ी में 28, उधम सिंह नगर और अल्मोड़ा में 7-7, पिथौरागढ़ में चार, चंपावत में तीन, उत्तरकाशी और टिहरी गढ़वाल में 2-2 मामले, बागेश्वर और चमोली में एक-एक सक्रिय कोरोना संक्रमित मरीज है। रुद्रप्रयाग जिले में कोई भी सक्रिय मरीज नहीं है, यह एकमात्र कोरोनामुक्त जिला है।

प्रदेश में अब तक कुल 3 लाख 44 हजार 335 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं। इनमे से 3 लाख 30 हजार 571 लोग रिकवर हो चुके हैं, जबकि 7,408 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। वहीं प्रदेश में कोरोना जांच भी बढा दी गई है। आज कुल 16 हजार 459 सैंपल जांच के लिए भेजे गए। इसके साथ ही कोरोना के खिलाफ जंग में वैक्सीनेशन  अभियान भी जारी है। प्रदेश में आज कुल 62 हजार 696 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई।

error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!