26 February 2024

सीमांत जिले चमोली, उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ के 35 सरपंच बनेंगे गणतंत्र दिवस परेड के साक्षी

देहरादून : 26 जनवरी 2024 को देश 75वां गणतंत्र दिवस मनाएगा। इस खास मौके पर भारत सरकार ने अलग अलग क्षेत्रों और मंत्रालयों की योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, महिला स्वंय सहायता समूह, किसान उत्पादन संगठन आदि योजनाओं के लाभार्थियों को 26 जनवरी को कर्तव्य पथ पर आयोजित होने वाली परेड पर विशेष तौर पर आमंत्रित किया है। इसके अलावा सीमांत क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास के लिए चलाई जा रही वाइब्रेंट विलेज योजना के अंतर्गत आने वाले गांवों के सरपंचों को भी कर्तव्य पथ पर आयोजित होने वाली परेड पर विशेष तौर पर आमंत्रित किया है। इसी कड़ी में उत्तराखंड के सीमांत जिले चमोली, उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ के 35 सरपंचों को उनके पति और पत्नी के साथ कर्तव्य पथ पर आयोजित होने वाली परेड पर विशेष तौर पर आमंत्रित किया है। इसके अलावा इन जिलों के 23 उप सरपंचों को भी कर्तव्य पथ पर आमंत्रित किया है।

सीमांत जिले चमोली के नीति गांव की सरपंच हेमलता राणा गणतंत्र दिवस की परेड के आमंत्रण पर खासी उत्साहित हैं। इस आमंत्रण के लिए उन्होंने व उनके पति मुकेश राणा ने भारत सरकार का आभार जताया है। चमोली के माणा गांव के आमंत्रित सरपंच पीताम्बर सिंह भी इस आमंत्रण से खुश हैं। उन्होंने बताया कि वह अपनी पत्नी गायत्री देवी के साथ 26 जनवरी की परेड व कार्यक्रम देखने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है जब देश के सीमांत जिलों के गांवों के सरपंचों और उपसरपंचों को गणतंत्र दिवस परेड के कार्यक्रम देखने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वाइब्रेंट विलेज स्कीम से सीमांत क्षेत्रों के विकास के लिए सरकार बेहतरीन प्रयास कर रही है।

उत्तरकाशी जिले के मुखवा गांव की सरपंच शिवकला देवी अपने पति संजय सिंह के साथ कर्तव्य पथ पर आयोजित होने वाली परेड पर विशेष तौर पर आमंत्रित हैं। शिवकला ने कहा कि वह परेड कार्यक्रम देखने के लिए उत्साहित हैं और इस आमंत्रण के लिए वह सरकार का आभार प्रकट कर रही हैं। धराली गांव की सरपंच प्रभा देवी और उनके पति प्रदीप सिंह भी परेड के देखने के लिए आमंत्रित हैं। प्रदीप ने कहा कि वह परेड के दौरान भारत की विभिन्न संस्कृतियों, विकास और शौर्य को साक्षात रूप से देख पाएंगे। इसके लिए वह भारत सरकार का आभार जता रहे हैं।

सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के गुंजी गांव के सरपंच सुरेश सिंह भी परेड कार्यक्रम देखने के लिए कर्तव्य पथ पर आमंत्रित हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सुंदर गांव के सरपंचों को भी आमंत्रित कर रही है ये एक बेहतरीन प्रयास है। उन्होंने इस दौरान कहा कि परेड कार्यक्रम में इतने दूर बसे गांव के जनप्रतिनिधियों को सरकार आमंत्रित कर रही है, इससे वह उत्साहित हैं। पिथौरागढ़ के कुटी गांव के सरपंच धर्मेंद्र कुतियाल और डुकतु गांव के प्रधान विरेंद्र दुकताल भी परेड कार्यक्रम में आमंत्रण मिलने पर उत्साहित हैं। उन्होंने आमंत्रण के लिए भारत सरकार का आभार जताया है।