15 April 2024

चुनाव से जुड़ी सभी व्यवस्थाओं को समय रहते कर लिया जाए चाक-चौबंद – डीएम डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट

उत्तरकाशी : आगामी लोक सभा चुनावों को लेकर जिले में मतदान डयूटी के लिए कार्मिकों की ड्यूटी लगाए जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिलाधिकारी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने आज पहले चरण के रेंडमाईजेशन के माध्यम से पीठासीन अधिकारियों और मतदान अधिकारी-प्रथम की नियुक्ति की कार्रवाई संपन्न करवाई। इन कार्मिकों को आगामी 20 से 22  मार्च तक जिला मुख्यालय में प्रशिक्षण दिए जाने का कार्यक्रम तय किया गया है। जिलाधिकारी ने निर्वाचन कार्य से जुड़े अधिकारियों को चुनाव से जुड़ी सभी व्यवस्थाओं को समय रहते चाक-चौबंद करने के साथ ही चुनाव ड्यूटी व इससे जुड़ी व्यवस्थाओं में लगे सभी सरकारी एवं गैर सरकारी कार्मिकों का मतदान सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए हैं।
जिला प्रशासन के स्तर से आगामी लोक सभा सामान्य निर्वाचन से जुड़ी तैयारियांं और व्यवस्थाओं को युद्धस्तर पर अंजाम दिए जाने की कार्रवाई की जा रही है। चुनाव ड्यूटी के लिए जिले के 3146 कार्मिकों का कंप्यूटरीकृत डाटाबेस तैयार कर आज पहले दौर के रेंडमाईजेशन के माध्यम से मतदान कार्य हेतु पोलिंग बूथों पर तैनाती के साथ ही आरक्षित व्यवस्था हेतु 716 पीठासीन अधिकारियों और 716 मतदान अधिकारी-प्रथम की नियुक्ति की प्रक्रिया जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट की निगरानी में संपन्न कराई गई। जिलाधिकारी ने इन कार्मिकों के लिए आगामी 20 से 22 मार्च तक प्रस्तावित पहले दौर के प्रशिक्षण की बेहतर व्यवस्था करने के साथ ही अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि प्रशिक्षण के दौरान ही सभी कार्मिकों को डाकमतपत्र की सुविधा से जुड़े प्रपत्र उपलब्ध कराकर भरे हुए आवेदन पत्र प्राप्त कर लिए जाए। इसके लिए ऑनलाईन मतदाता सूची देखने के सुविधा सहित डाकमत पत्र फैसिलिटेशन सेंटर की स्थापना की जाय।
चुनाव की तैयारियों को लेकर अधिकारियों की बैठक लेते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव को सुव्यवस्थित, स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से संपादित करने के लिए चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह से अनुपालन सुनिश्चित कर सभी व्यवस्थाएं युद्धस्तर पर पूरी की जाए। उन्होंने चुनावी तैयारियों की समीक्षा करने के साथ ही चुनाव ड्यूटी में लगे कार्मिकों, सुरक्षा कर्मियों, होमगार्ड्स एवं पीआरडी के जवानों, बीएलओ के साथ ही चुनाव से जुड़ी विभिन्न व्यवस्थाओं यथा-परिवहन, टेंट, लाईट, केटरिंग आदि कार्यां में लगे मतदाताओं का मतदान सुनिश्चित कराने के लिए अभी से रणनीति तय कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने दिव्यांग एवं पिचासी वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ मतदताओं के मतदान की सुविधा के लिए किए जा रहे उपायों और सक्षम एप डाउनलोड करने की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले में मतदान का प्रतिशत बढाने के लिए सभी विभागों व चुनावी ड्यूटी में तैनात कार्मिक मतदाताओं को प्रेरित करने के साथ ही बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं को दी जाने वाली सुविधाओं का भी प्रचार-प्रसार करें। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जय किशन, अपर जिलाधिकारी रजा अब्बास, उप जिलाधिकारी भटवाड़ी बीके तिवारी, उपजिलाधिकारी डुंडा नवाजिश खलीक, उप जिलाधिकारी पुरोला देवानंद शर्मा, उप जिलाधिकारी बड़कोट मुकेशचंद रमोला, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी सर्वेशमणि मिश्रा, मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ. डीके तिवारी, मुख्य कृषि अधिकारी जेपी तिवारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी अमित कोटियाल, पीडी डीआरडीए पुष्पेन्द्र चौहान, एपीडी रमेश चन्द्र, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुधीर जोशी, तहसीलदार सुरेश प्रसाद सेमवाल, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल आदि उपस्थित रहे।