22 June 2024

स्वरोजगार की दिशा में एक और अभिनव पहल सफल, जनपद बागेश्वर की पहली मशरूम यूनिट में उत्पादन शुरु, डीएम अनुराधा पाल ने कहा – मशरूम उत्पादन में रोजगार की बेहतर संभावनाएं

बागेश्वर : जिले में पहला वातानुकूलित मशरूम यूनिट स्थापित कर अन्य लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बने किसान बलवंत सिंह नगरकोटी के मशरूम यूनिट का निरीक्षण करने मंगलवार को जिलाधिकारी अनुराधा पाल ग़ैराड़ गांव पहुंची। जिलाधिकारी ने मशरूम का उत्पादन कर रहे किसान की प्रशंसा कर उनका उत्साहवर्द्धन किया। जिलाधिकारी ने कहा कि मशरूम उत्पादन में रोजगार की बेहतर संभावनाएं हैं। इसकी मांग को देखते हुए यह एक बढ़िया व्यवसाय साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि गांव के अन्य किसानों को भी इनसे प्ररेणा लेते हुए मशरूम उत्पादन की दिशा में आगे आना चाहिए। जिससे गांव में ही स्वरोजगार स्थापित हो सके और किसानों की आय में वृद्धि  हो सके। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जनपद में इसकी संभावनाओं को देखते हुए अन्य स्थानों पर भी मशरूम यूनिट को स्थापित करने के लिए प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए हरसंभव मदद की जाएगी।
इस दौरान जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि हॉल्टीकल्चर मिशन के तहत यह जनपद के पहला 48 टन क्षमता वाला वातानुकूलित मशरूम प्लांट है। जिसको स्थापित करने में अनुमानित 48 लाख का व्यय हुआ है। जिसमें 40 प्रतिशत सब्सिडी का प्रावधान है। मशरूम यूनिट में एक दिन में 50 किलोग्राम मशरूम का उत्पादन किया जा रहा है। एक दिन में 8 हजार की आय हो रही है। किसान ने पिछले पांच दिन में दो कुंतल मशरूम उत्पादन कर 30 हजार की आय अर्जित की है। इस अवसर पर सहायक उद्यान अधिकारी कुलदीप जोशी सहित अन्य किसान मौजूद थे।