27 May 2024

बाबा तरसेम सिंह हत्याकांड : षड्यंत्रकारी सतनाम सिंह और सुल्तान सिंह गिरफ्तार, एक बदमाश का हो चुका एनकाउंटर

उधमसिंह नगर :  नानकमत्ता बाबा तरसेम सिंह हत्याकांड मामले में ऊधम सिंह नगर पुलिस ने 2 और षडयंत्रकारियों सतनाम सिंह और सुलतान सिंह को किया गया गिरफ्तार। सतनाम सिंह को नेपाल बॉर्डर से किया गिरफ्तार। सुल्तान सिंह को हरियाणा से गिरफ्तार किया गया है।सुल्तान सिंह हत्याकांड का मुख्य षडयंत्रकारी है। सुल्तान सिंह द्वारा ही रची गई थी हत्याकांड की साजिश। हत्याकांड हेतु अन्य षडयंत्रकारियों को एकत्रित किया गया और शूटरों को उपलब्ध करवाए थे पैसे और हथियार। SSP टीसी नाथ मंजू ने बताया कि अब तक हत्याकांड में शामिल 09 षडयंत्रकारियों को गिरफ्तार और 01 अभियुक्त का किया जा चुका है एनकाउंटर। गिरफ्तार अपराधियों पर हत्या, लूट, गैंगस्टर जैसे जघन्य अपराध सम्बंधित दर्ज़नो मुकदमें दर्ज हैं। हत्याकांड में शामिल मास्टर प्लानर के विरुद्ध साक्ष्य एकत्रित किए जा रहे हैं, सभी के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

घटना का विवरण

  • दिनांक 28/03/24 को द्वारा 112 से प्रातः समय करीब 06:29 बजे थाना नानकमत्ता पर सुचना प्राप्त हुई की डेरा कार सेवा नानक मत्ता के प्रमुख बाबा तरसेम सिंह को अज्ञात मोटर साइकिल सवारों ने द्वारा गोली मार दी गयी है ।
  • जिस पर थाना नानकमत्ता पुलिस टीम द्वारा मौका मुवायना किया गया तो जानकारी हुई कि डेरा कर सेवा के प्रमुख बाबा तरसेम सिंह प्रातः डेरे के बरामदे में कुर्सी में बैठे थे कि समय करीब 06 :17 बजे एक मोटरसाइकिल पर दो अज्ञात व्यक्ति आये जिसमें से पीछे बैठे व्यक्ति के द्वारा अपने पास ली हुई राइफल से बाबा तरसेम सिंह पर दो फायर करे और मौके से मोटरसाइकिल में फरार हो गए ।
  • घायल बाबा तरसेम सिंह को पहले पंच रत्न अस्पताल नानकमत्ता फिर हायर सेंटर स्वास्तिक अस्पताल खटीमा ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उनकी मृत्यु हो गई |।

पुलिस कार्यवाही

  • घटना के सम्बन्ध में वादी मुकदमा जसवीर सिंह निवासी चारूबेटा थाना खटीमा की तहरीर के आधार पर थाना नानकमत्ता पर एफ0आई0आर0 नंबर 83/2024 धारा 302/34/120B भादवि बनाम सरबजीत सिंह आदि कुल 02 नामजद व 03 बाईस्तवा अभियुक्तगण पंजीकृत किया गया।
  • विवेचना बहादुर सिंह चौहान, क्षेत्राधिकारी सितारगंज द्वारा ग्रहण कर विवेचना प्रारम्भ की गयी तथा फॉरेन्सिक, दस्तावेजी, सीसीटीवी, बयानात चश्मदीद गवाहान व सर्विलांस की सहायता से ठोस साक्ष्य संकलन कर दिनांक 03-04-2024 को 02 अभियुक्तगण दिलबाग सिंह व अमनदीप सिंह उर्फ काला, दिनांक 04-04-2024 को 02 अभियुक्तगण बलकार सिंह व हरविन्दर सिंह उर्फ पिन्दी, दिनांक 06-04-2024 को 02 अभियुक्तगण जसपाल सिंह व परगट सिंह व दिनांक 07-04-2024 को 01 अभियुक्त सुखदेव सिंह उर्फ सोनू गिल की गिरफ्तारी की गयी तथा घटना में प्रयुक्त 02 कारें, डीवीआर, मोबाईल फोन आदि बरामद किये गये ।
  • मुकदमें में वांछित मुख्य अभियुक्त शूटर अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू उर्फ गंडा व सरबजीत सिंह के वारंट प्राप्त कर उन पर 01 लाख रूपये का ईनाम घोषित किया गया ।
  • जानकारी के अनुसार मुकदमा उपरोक्त में मुख्य अभियुक्त शूटर अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू उर्फ गंडा की दिनांक 09-04-2024 को पुलिस मुठभेड़ के दौरान घायल होना व अस्पताल में उपचार के दौरान मृत्यु होना ज्ञात हुआ है । जिसके सम्बन्ध में थाना भगवानपुर जनपद हरिद्वार में एफ0आई0आर0 नंबर 256/2024 धारा 307 भादवि व 3/25 आर्म्स एक्ट बनाम अमरजीत पंजीकृत किया गया है ।
  • 12.04.2024 को वांछित अभियुक्त सतनाम सिंह पुत्र जगीर सिंह व 20 हजार के इनामी अभियुक्त सुल्तान सिंह पुत्र इन्दर सिंह की गिरफ्तारी

मुकदमा उपरोक्त में वांछित अभियुक्त सतनाम सिंह की गिरफ्तारी के लिए मुकदमें के लिए गठित SIT की बिभिन्न टीमों को तैनात किया गया तथा उन्हें लगातार वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा निर्देश दिये जा रहे थे । इस दौरान अभियुक्त सतनाम गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा परन्तु गठित टीम द्वारा प्रोफेशनल पुलिसिंग करते हुए वांछित अभियुक्त को दिनांक 12.04.2024 को गौरीफंटा जिला लखीमपुरखीरी से गिरफ्तार किया ।

मुकदमा उपरोक्त में 20 हजार के इनामी सुल्तान को गिरफ्तार करने के लिए भी SIT की विभिन्न टीमें दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश व पंजाब के विभिन्न स्थानों पर लगातार दबिस देती रही परन्तु अभियुक्त बहुत ही शातिर होने व लम्बे आपराधिक इतिहास के कारण शातिराना तरीके से अपने ठिकाने बदलकर खुद को छुपाता रहा । परन्तु गठित टीमों द्वारा मैनुअल इनपुट व सर्विलॉस की सहायता से अभियुक्त सुल्तान को पिल्लूखेडा थाना क्षेत्र जनपद जिन्द हरियाणा से दिनांक 12.04.2024 को गिरफ्तार किया गया ।

गिरफ्तार अभियुक्तों की अपराध में भूमिका

अभियुक्त सतनाम द्वारा अपने सह अभियुक्तों दिलबाग, बलकार, परगट व हरविन्दर उर्फ पिन्दी के साथ मिलकर बाबा तरसेम की हत्या का षडयन्त्र रचा । इस षडयन्त्र को पूरा करने के लिए उन्होंने आवास विकास स्थित गुरुद्वारे व दिलबाग के घर पर की गई मीटिंगों में विस्तृत योजना बनायी तथा हत्या हेतु सरबजीत व अमरजीत नाम के पेशेवर अपराधियों को अपने साथियों के साथ मिलकर पैसा, मोबाईल, हथियार व अन्य संसाधन उपलब्ध कराकर साजिस को अंजाम तक पहुंचाया व घटना के बाद से ही लगातार फरार चल रहा था ।

अभियुक्त सुल्तान

तराई क्षेत्र में गुरुद्वारों व सिक्ख समुदाय से जुडे धार्मिक स्थालों पर वर्चस्व को लेकर चल रही रंजिश के कारण अभियुक्त सुल्तान द्वारा कुछ प्रभावशाली लोगों के साथ मिलकर बाबा तरसेम की हत्या करने के लिए दिलबाग, बलकार, परगट व हरविन्दर उर्फ पिन्दी व सतनाम को षडयन्त्र में शामिल करते हुए सुनियोजित तरीके से घटना को अंजाम दिया । अभियुक्त के मुख्य शूटर अमरजीत उर्फ बिट्टू उर्फ गंडा से सीधा सम्पर्क भी प्रकाश में आया है । षडयन्त्रकारियों को इस हत्या के लिए जोडने व शूटर्स को पैसा व अन्य संसाधन उपलब्ध कराने में भी अभियुक्त सुल्तान की मुख्य भूमिका रही है ।

  • मुकदमें में वांछित व 01 लाख के ईनामी अभियुक्त सरबजीत सिंह की गिरफ्तारी हेतु विभिन्न टीमों का गठन कर पंजाब, उत्तर प्रदेश, दिल्ली के विभिन्न स्थानों पर दबिश दी जा रही है ।
  • बाईस्तवा अभियुक्तगणों की अपराध में संलिप्तता विषयक ठोस साक्ष्य संकलन वैज्ञानिक पद्धति से किया जा रहा है ।
  • घटना में सम्मिलित अन्य अभियुक्तगणों के विषय में जानकारी जुटाकर साक्ष्य संकलन किया जा रहा है ।

गिरफ्तार अभियुक्तगणों का विवरण

1-सुल्तान सिंह पुत्र इन्दर सिंह निवासी गदाफार्म थाना बिलासपुर जिला रामपुर उ0प्र0 उम्र करीब 55 वर्ष

2-सतनाम सिंह पुत्र जगीर सिंह निवासी कुईया महोलिया थाना बंडा जिला शाहजहाँपुर उ0प्र0 उम्र करीब 51 वर्ष

वांछित अभियुक्तगण का विवरण

1-सरबजीत सिंह पुत्र स्वरूप सिंह निवासी मियाविंड थाना वैरोवाल जिला तरनतारण पंजाब (शूटर)

बाईस्तवा एफ0आई0आर0 अभियुक्तगण जिनके अपराध में संलिप्पता विषयक साक्ष्य संकलन की कार्यवाही प्रचलित है ।

1- बाबा अनूप सिंह पुत्र राम सिंह निवासी नवाबगंज रामपुर उ0प्र0..

2- प्रीतम सिंह संधू पुत्र लाल सिंह निवासी खेमपुर थाना गदरपुर जिला ऊधमसिंहनगर।

3- हरवंश सिंह चुघ पुत्र रणजीत सिंह चुघ निवासी गदरपुर जिला ऊधमसिंहनगर।

4- फतेहजीत सिंह खालसा पुत्र सुक्खन सिंह निवासी बिलहरा माफी थाना अमरिया जिला पीलीभीत उ0प्र.

 

अभियुक्त सुल्तान सिह का आपराधिक इतिहास

1-FIR N0-1464 ए/2010 धारा 147/323/324 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र0.

2-FIR N0-403/2008 धार 147/379/504/506 भादवि व 3(1)एससी/एसटी एक्ट थाना बिलासपुर उ0 प्र0.

3-FIR N0-443/1996 धारा 307/506 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र0.

4-FIR N0-1124/2005 धारा 467/468/471/420 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र.

5-FIR N0-369/2008 धारा 147/148/307/323/504/506 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र0.

6-FIR N0-494/2010 धारा 307/417/148/392/323 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र0.

7-FIR N0-320/2011 धारा 147/323/506 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र0.

8-FIR N0-18/2005 धारा 41/102 द0प्र0सं0 व 411/467/468/420/471 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ0 प्र0.

9-FIR N0-14/2005 धारा 41/102 द0प्र0सं0 व 411/467/468/420/471/120B भादवि थाना भोट रामपुर उ0 प्र0.

10-FIR N0-18/2005 धारा 41/102 द0 प्र0 सं0 व 411 भादवि थाना भोट रामपुर उ0 प्र0.

11-FIR N0-83/2024 धारा 302/307/34/120B भादवि थाना नानकमत्ता जिला उधम सिह नगर.

अभियुक्त सतनाम सिंह पुत्र जगीर सिंह निवासी कुईया महोलिया थाना बंडा जिला शाहजहाँपुर

1-FIR N0-861/2009 धारा 324/323/504/506 भादवि थाना बंडा जिला शाहजहापुर उत्तर प्रदेश।

2-FIR N0-83/2024 धारा 302/307/34/120B भादवि थाना नानकमत्ता जिला उधम सिह नगर।

 

You may have missed