26 February 2024

गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. पंडित राजेंद्र अन्थवाल ने नगर निगम कोटद्वार के द्वारा की जा रही लापरवाही से गो वंश को हो रहे नुकसान का लिया कड़ा संज्ञान

कोटद्वार : गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. पंडित राजेंद्र अन्थवाल ने नगर निगम कोटद्वार के द्वारा की जा रही लापरवाही से गो वंश को हो रहे नुकसान का कड़ा संज्ञान लिया। मुजीब नैथानी द्वारा अध्यक्ष उत्तराखण्ड गोसेवा आयोग को अवगत कराया गया था कि नगर निगम कोटद्वार द्वारा कूड़ादान हटा दिए जाने एवम स्थानीय निवासियों द्वारा  कूड़ादान हेतु पूर्व में ही उक्त चिन्हित स्थलों पर कूड़ा फेंका जा रहा है जिसमें प्लास्टिक इत्यादि भारी मात्रा में मौजूद है। खुले में इस प्रकार कूड़ा फेंके जाने की वजह से गौ वंश उस कूड़े को खाने को विवश है क्योंकि निगम में मौजूद गोवंश के आश्रय हेतु उचित व्यवस्था उपलब्ध नहीं है। नगर आयुक्त कोटद्वार को बार बार शिकायतों के बावजूद निगम उक्त समस्या के निराकरण हेतु कोई उचित कार्यवाही नहीं कर रहा है। मुजीब नैथानी के पत्र के साथ साथ अन्य शिकायतों का व सोशल मीडिया में वायरल हो रहे वीडियो आदि का संज्ञान लेते हुए गौसेवा आयोग के अध्यक्ष राजेंद्र अंठवाल ने जिलाधिकारी गढ़वाल को दिए हैं जॉच  कर दोषियों अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही के आदेश।
गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. पंडित राजेंद्र अन्थवाल ने नगर निगम, कोटद्वार की लापरवाही के चलते कोटद्वार शहर में कूड़े के ढेर में प्लास्टिक, कांच इत्यादि विषाक्त पदार्थ को खाने को विवश गौवंश की दुर्दशा के सम्बन्ध में शिकायत का लिया संज्ञान। गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. पंडित राजेंद्र अन्थवाल ने जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल को भेजे पत्र में लिखा कि मुजीब नैथानी, लैंसडौन भवन, देवी मन्दिर, देवी रोड़, सिताबपुर, कोटद्वार द्वारा अपने वाट्सऐप / ई-मेल संदेश के माध्यम से अवगत कराया है कि नगर निगम, कोटद्वार द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर पहले कूड़ेदान रखे गये थे, अब वह कूड़ेदान हटा दिए गये हैं, जिस वजह से उक्त स्थान पर लोग कूड़ा सड़क पर ही फेंक देते हैं, जिसको सड़को पर विचरण करने वाले गोवंश खा रहे हैं, जिसमें प्लास्टिक इत्यादि विषाक्त पदार्थ कांच इत्यादि भी होता है, जिसके फोटोग्राफ भी प्रेषित किए गये हैं। इसकी शिकायत सम्बन्धित द्वारा नगर निगम के अधिकारियों से भी की गई, किन्तु अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है।
इस प्रकार की शिकायतें पूर्व में भी सोशल मीडिया पर वायरल हुयी हैं, जिसमें नगर निगम, कोटद्वार की लापरवाही के चलते गाड़ी घाट तिराहे पर कूड़े के ढेर पर बड़ी संख्या में गौवंश को प्लास्टिक, कांच इत्यादि विषाक्त पदार्थ को खाने को विवश गौवंश को दिखाया गया था तथा जिससे कई बेजुबान नंदी एवं अन्य गौवंश की असामयिक मौत तक हो गयी थी। नगर निगम, कोटद्वार द्वारा इन निराश्रित गोवंश को शरण देने हेतु गौशाला के निर्माण एवं उसके संचालन में भी गम्भीर लापरवाही बरते जाने की शिकायतें प्राप्त हो रही है, जिस पर भी आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है।
गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. पंडित राजेंद्र अन्थवाल ने जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल को लिखे पत्र में कहा कि नगर निगम, क्षेत्रान्तर्गत इधर-उधर बड़ी संख्या में विचरण कर रहे गोवंश जो प्लास्टिक, कांच इत्यादि विषाक्त पदार्थ खाने को विवश हैं, उन्हें उचित शरण दिलाने हेतु तत्काल आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कराते हुए उक्त शिकायतों बिन्दुओं की जांच कर दोषी अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित करने का कष्ट करें तथा कृत कार्यवाही से आयोग को भी अवगत कराने का कष्ट करें।

You may have missed