22 June 2024

श्री केदारनाथ यात्रा मार्ग सिरोहबगड़ से लेकर केदारनाथ धाम तक निरंतर हो रही है साफ-सफाई व्यवस्था

रुद्रप्रयाग : ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग श्री केदारनाथ धाम में दर्शन करने पहुंच रहे तीर्थ यात्रियों को साफ-स्वच्छ वातावरण उपलब्ध हो, इसके लिए जिला पंचायत, नगर पालिका, नगर पंचायत एवं सुलभ इंटरनेशनल द्वारा अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत निरंतर बेहतर साफ-सफाई की व्यवस्था संबंधित विभागों/संस्थाओं के पर्यावरण मित्रों द्वारा की जा रही है।
अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत केदारनाथ चंद्रशेखर चैधरी ने अवगत कराया है कि श्री केदारनाथ धाम में दर्शन करने आ रहे तीर्थ यात्रियों को साफ-स्वच्छ वातावरण उपलब्ध हो, इसके लिए नगर पंचायत केदारनाथ के पर्यावरण मित्रों द्वारा केदारनाथ धाम सहित सरस्वती नदी एवं मंदाकिनी नदी की भी निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही आने वाले तीर्थ यात्रियों को भी पर्यावरण के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए प्लास्टिक का उपयोग न करने एवं जो भी कूड़ा-कचरा उनके द्वारा किया जा रहा है उसको डस्टबिन में डालने के लिए जागरूक किया जा रहा है। इसके साथ ही जो भी दुकानदार एवं यात्री गंदगी करते हुए पकड़ा जाता है तो उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।
सुलभ इंटरनेशल के इंचार्ज धनंजय पाठक ने अवगत कराया है कि सुलभ इंटरनेशनल के पर्यावरण मित्रों द्वारा सीतापुर पार्किंग से लेकर केदारनाथ धाम तक यात्रा मार्ग की निरंतर साफ-सफाई की जा रही है। इसके साथ ही केदारनाथ धाम, सीतापुर, सोनप्रयाग एवं यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों में स्थापित सुलभ शौचालयों की निरंतर सफाई व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही यात्रा मार्ग में घोड़े-खच्चरों के लिए बनाई गई चरहियों की भी साफ-सफाई व्यवस्था की जा रही है।
अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सोबन सिंह कठैत ने अवगत कराया है कि जिला पंचायत के पर्यावरण मित्रों द्वारा जिला पंचायत के विभिन्न क्षेत्रों में निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने अवगत कराया कि आज पर्यावरण मित्रों द्वारा आज यात्रा मार्ग के विभिन्न क्षेत्रों में साफ-सफाई व्यवस्था कराई गई तथा सफाई के दौरान एकत्रित कूड़े का उचित निस्तारण किया जा रहा है।
अधिशासी अधिकारी नगर पालिका रुद्रप्रयाग सुशील कुमार कुरील एवं नगर पंचायत अगस्त्यमुनि कैलाश पटवाल ने अवगत कराया है कि उनके द्वारा भी अपने-अपने क्षेत्रों में निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था की जा रही है तथा स्थानीय लोगों एवं केदारनाथ दर्शन करने पहुंच रहे श्रद्धालुओं को भी कूड़े को डस्टबीन में ही डालने के लिए जागरूक किया जा रहा है।