17 June 2024

जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराधा पाल ने बैंकों के सीएसआर मद से प्राप्त 19 व्हील चेयर नोडल अधिकारी दिव्यांग को सौंपी

बागेश्वर : जनपद में दिव्यांग व 85 साल से अधिक उम्र के वृद्धों के मतदान सुनिश्चित करने के लिए चुनाव आयोग की घर-घर जाकर मतदान प्रक्रिया समाप्त हो गई है। पोलिंग बूथ पर वोट करने के इच्छुक दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाताओं के मतदान के लिए आयोग के निर्देशानुसार समाज कल्याण विभाग द्वारा मतदान केंद्र तक पहुंचाने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही है। जिसके तहत जिलाधिकारी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराधा पाल ने सोमवार को बैंकों के सीएसआर मद से प्राप्त 19 व्हील चेयर नोडल अधिकारी दिव्यांग को सौंपी।

विकास भवन परिसर में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराधा पाल ने नोडल अधिकारी दिव्यांग को विभिन्न बैंकों से प्राप्त सीएसआर मद से प्राप्त व्हील चेयर सौंपी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाता जिन्हें पोलिंग बूथ पर व्हीलचेयर की आवश्यकता प्रतीत होती है उन्हें व्हीलचेयर के माध्यम से सुरक्षित मतदान कराएं। उन्होंने नोडल अधिकारी को निर्देशित किया कि दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओं को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए आवश्यक कदम उठाएं जाय। तथा इसके लिए स्वंयसेवीयों की भी मदद ली जाय। गौरतलब है कि जनपद में दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 2 हजार 600 सौ व बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या 2 हजार 38 हैं। भारत चुनाव आयोग द्वारा दी गई होम वोटिंग की सुविधा के तहत चलने फिरने में असमर्थ 910 दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग पोस्टल बैलेट के माध्यम से घर से कर लिया है। इसके अतिरिक्त बूथ में जाकर मतदान करने वाले दिव्यांग और बुजुर्गों मतदाताओं को केंद्र तक लाने व ले जाने के लिए व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, लीड बैक अधिकारी शंकर सिंह दुग्ताल, नोडल अधिकरी दिव्यांग मतदाता हेम तिवारी सहित अन्य बैकों के प्रबंधक मौजूद थे।