21 May 2024

जिले में डेंगू के प्रभावी रोकथाम के लिए सोर्स रिडक्शन पर कार्य करना करें सुनिश्चित – डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल

हरिद्वार : जनपद में डेंगू के प्रभावी रोकथाम हेतु सोर्स रिडक्शन (स्त्रोत में कमी) पर कार्य करना सुनिश्चित करें। यह निर्देश जिलाधिकारी ने डेंगू रोकथाम हेतु जिला कार्यालय सभागार में बैठक लेते हुए कही। जिलाधिकारी ने कहा कि मानसून काल में डेंगू का खतरा बना रहता है इसलिए साफ सफाई का विशेष ध्यान दें और पानी को रुकने न दें। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि बरसात से पहले जनजागरूकता कार्यक्रम आयोजित करते हुए मच्छर का करवा पनपने वाले संभावित स्थानों की जानकारी दी जाए और साथ ही डेंगू के लक्षण, उपचार, बचाव आदि के बारे में भी विस्तार से जानकारी साझा की जाए।
उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को आपसी समन्वय से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर पालिकाओं, नगर पंचायतों, नगर निगमों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बरसात के मौसम में जल भराव की स्थिति उत्पन्न न हो, नालियों एवम नालों की ठीक प्रकार से सफाई कराना सुनिश्चित करें, कूड़ा वाहनों के माध्यम से भी जागरूकता अभियान चलाया जाए। उन्होंने विद्यालयों में विद्यार्थियों को डेंगू के प्रति जागरूक करने व निबन्ध प्रतियोगिताएं आयोजित कराने के निर्देश मुख्य शिक्षा अधिकारी को दिए। उन्होंने एनजीओ तथा स्वयं सहायता समूहों के सहयोग से भी जन जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को डेंगू संभावित क्षेत्रों को पहले से ही चिन्हित करने के निर्देश दिए।
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मनीष दत्त ने डेंगू के रोकथाम एवं बचाव के उपाय के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि घरों के आसपास पूर्ण साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करें। कचरे को अपने आवास से दूर फेंके। घरों के कूलर, टेंक, ड्रम, बाल्टी आदि से पानी खाली करें। कूलर का उपयोग नही होने का दशा में उसका पानी पूरी तरह खाली करें। घरों के आसपास पानी एकत्रित होने वाली सभी अनुपयोगी वस्तुएं जैसे – टीन के डब्बे, कॉच एव प्लास्टिक के बोतल, नारियल के खोल, पुराने टायर आदि नष्ट कर पाट दें तथा निस्तारी योग्य पानी में लार्वा पाए जाने पर टेमीफोस लार्वानाशक दवा का पानी की सतह पर छिड़काव करें। फ्रीज के ‘ड्रिप-पैन’ से पानी प्रतिदिन खाली करें। पानी संग्रहित करने वाले टंकी, बाल्टी, टब आदि सभी को हमेशा ढंककर रखें। प्रभावित क्षेत्र में प्रति सप्ताह रविवार के दिन डेंगू रोधी दिवस के रूप में मनाया जाए, जिसके अंतर्गत समस्त पानी के कंटेनरों को खाली किया जाए एवं घर में तथा आसपास साफ-सफाई अभियान के रूप में किए जाने के लिए लोगों को जागरूक किया जाए। डेंगू के प्रति जन जागरूकता हेतु किए जा रहे कार्यों, डेंगू उपचार हेतु उपलब्ध सुविधाओं आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
बैठक एडीएम पीएल शाह, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट देवेश शासनी, मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, परियोजना निदेशक केएन तिवारी, डॉ.राजेश गुप्ता, रेड क्रॉस सोसायटी से डॉ.नरेश चौधरी, एसडीएम गौपाल सिंह चौहान, जितेंद्र सिंह, सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।