16 April 2024

स्वीकृत बजट समय पर खर्च करें अधिकारी – उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत

उच्च शिक्षा में प्रयोगशाला उपकरणों हेतु जारी किये 5.30 करोड़

देहरादून : उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत राजकीय महाविद्यालयों में विभिन्न विषयों की प्रयोगशालाओं को आधुनिक उपकरणों से लैस करने के दृष्टिगत रूपये 5.30 करोड़ की धनराशि डीबीटी के माध्यम से जारी की गई है। प्रथम चरण में सूबे के 46 राजकीय महाविद्यालयों को यह धनराशि दी गई है साथ ही सभी प्राचार्यों को समय रहते उपकरणों की खरीद करने के निर्देश भी दिये गये हैं।  
सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज अपने शासकीय आवास में उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में वर्चुअल माध्यम से राजकीय महाविद्यालयों में प्रयोगशाला उपकरणों की खरीद हेतु रूपये 5 करोड़ 30 लाख की धनराशि डीबीटी के माध्यम से जारी की। यह धनराशि सूबे के 46 महाविद्यालयों को उपलब्ध कराई गई है। जिससे इन महाविद्यालयों में प्रयोगशाला के आधुनिक उपकरणों की खरीद की जानी है। मीडिया को जारी बयान में डा. रावत ने बताया कि विभागीय अधिकारियों को समय रहते आवश्यकतानुसार उपकरणों की खरीद करने के निर्देश भी दे दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि महाविद्यालयों को यह धनराशि भारत सरकार की स्कीम फॉर स्पेशल असिस्टेंस टू स्टेट्स फॉर कैपिटल इवेंस्टमेंट 2023-24 योजना के तहत धनराशि प्रदान की गई है। जिससे चयनित महाविद्यालयों में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जन्तु विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, गृह विज्ञान, सैन्य विज्ञान, शिक्षाशास्त्र, मानव विज्ञान आदि विषयों की प्रयोगशालाओं में उपकरणों की खरीद की जायेगी। योजना के अंतर्गत राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत, अल्मोड़ा को विभिन्न विषयों की प्रयोगशाला उपकरण हेतु रूपये 14 लाख की धनराशि स्वीकृत की गई है। इसी प्रकार पीजी कॉलेज सोमेश्वर एवं राजकीय महाविद्यालय जैती को रूपये 12-12 लाख की धनराशि मंजूर की गई। बागेश्वर जनपद के अंतर्गत राजकीय महाविद्यालय कपकोट एवं गरूड़ को रूपये 10-10 लाख तथा राजकीय महाविद्यालय काण्डा के लिये रूपये 12 लाख की धनराशि स्वीकृत की गई है।
चम्पावत जनपद के अंतर्गत राजकीय महाविद्यालय देवीधुरा को रूपये 12 लाख तथा राजकीय महाविद्यालय अमोरी को रूपये 10 लाख की धनराशि प्रदान की गई है। पिथौरागढ़ जनपद के अंतर्गत राजकीय स्नातकोत्तर कॉलेज बेरीनाग के लिये रूपये 12 लाख तथा मुनस्यारी पीजी कॉलेज के लिये रूपये आठ लाख स्वीकृत किये गये हैं। नैनीताल में पीजी कॉलेज रामनगर को रूपये 14 लाख, डिग्री कॉलेज मालधनचौड़ को रूपये आठ लाख तथा डिग्री कॉलेज कोटाबाग तथा पीजी कॉलेज हल्दूचौड़ को रूपये 12-12 लाख स्वीकृत किये गये हैं। ऊधमसिंह नगर जनपद में डिग्री कॉलेज सितारगंज तथा बाजपुर के लिये रूपये 12-12 लाख की धनराशि मंजूर की गई है। पौड़ी गढ़वाल में पीजी कॉलेज कोटद्वार एवं थलीसैंण को रूपये 14-14 लाख, डिग्री कॉलेज रिखणीखाल, भाबर कोटद्वार, सतपुली एवं पीजी कॉलेज जयहरीखाल को रूपये12-12 लाख तथा मजरा महादेव महाविद्यालय को रूपये आठ लाख की धनराशि स्वीकृत की गई है। टिहरी गढ़वाल में पीजी कॉलेज नई टिहरी को रूपये 14 लाख, पीजी कॉलेज अगरोड़ा, नरेन्द्र नगर एवं लम्बगांव को रूपये 12-12 लाख तथा पीजी कॉलेज नैनबाग तथा चन्द्रबदनी को रूपये 10-10 लाख प्रदान किये गये हैं।
चमोली जनपद के तहत पीजी कॉलेज गोपेश्वर, कर्णप्रयाग एवं जोशीमठ को रूपये 12-12 लाख तथा लॉ कालेज गोपेश्वर के लिये रूपये आठ लाख की धनराशि स्वीकृत की गई है। देहरादून जनपद में पीजी कॉलेज डाकपत्थर, डिग्री कॉलेज रायपुर तथा डोईवाला को रूपये 14-14 लाख तथा डिग्री कॉलेज त्यूनी के लिये 12 लाख की धनराशि प्रदान की गई है। इसी प्रकार उत्तरकाशी जनपद में पीजी कॉलेज उत्तरकाशी, बड़कोट, चिनयालीसौड़ तथा पुरोला के लिये रूपये 12-12 लाख तथा रूद्रप्रयाग जनपद में डिग्री कॉलेज रूद्रप्रयाग के लिये रूपये 12 लाख तथा डिग्री कॉलेज जखोली के लिये रूपये आठ लाख स्वीकृत किये गये हैं। हरिद्वार जनपद में डिग्री कॉलेज खानपुर तथा चुडियाला के लिये रूपये आठ-आठ लाख की धनराशि योजना के अंतर्गत उपलब्ध कराई गई है।
इस मौके पर सचिव उच्च शिक्षा शैलेश बगोली, अपर सचिव डॉ. आशीष श्रीवास्तव, रूसा सलाहकार प्रो. एमएसएम रावत, प्रो. केडी पुरोहित, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा प्रो. एएस उनियाल, उप सचिव व्योमकेश दुबे, डॉ. दीपक पाण्डे आदि उपस्थित रहे जबकि वर्चुअल माध्यम से निदेशक उच्च शिक्षा प्रो. सीडी सूंठा व विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्य व विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।