17 June 2024

जनपद रुद्रप्रयाग को मिली रोड स्वीपिंग मशीन की सौगात, चारधाम यात्रा में सफाई को लेकर महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी मशीन, डीएम सौरभ गहरवार ने किया रोड स्वीपिंग मशीन का शुभारम्भ

  • जिलाधिकारी के अथक प्रयासों से 88 लाख की लागत से मंगवाई गई रोड स्वीपिंग मशीन
रुद्रप्रयाग : चारधाम यात्रा में स्वच्छता व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए जनपद को रोड स्वीपिंग मशीन की सौगात मिल गयी है। मशीन कोयंबुत्तूर तमिलनाडू से मंगाई गई है, जिसका आर्डर पर्यटन विभाग की ओर से बीस दिन पहले दिया गया। मशीन के रुद्रप्रयाग शहर पहुंचने पर ट्रायल लिया गया, जो सफल रहने पर स्थानीय लोगों के साथ ही श्रद्धालुओं ने खुशी व्यक्त करते हुए डीएम सौरभ गहरवार का आभार व्यक्त किया।
रोड स्वीपिंग मशीन के रूप में रुद्रप्रयाग जनपद को एक बड़ी सौगात मिली है। चारधाम यात्रा के लिहाज से केदारनाथ धाम काफी महत्वपूर्ण है। हर साल यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा हो रहा है। ऐसे में यात्रा मार्गो पर फैली गंदगी से निजात पाने के लिए रोड स्वीपिंग मशीन की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। जिलाधिकारी डाॅ सौरभ गहरवार इस कार्य के लिए लम्बे समय से प्रयासरत थे। मंगलवार देर सांय रोड स्वीपिंग मशीन के रुद्रप्रयाग शहर पहुंचने पर डीएम सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी श्याम सिंह राणा, एसडीएम आशीष घिल्डियाल एवं पर्यटन अधिकारी राहुल चैबे, ईई ग्रामीण निर्माण विभाग मीनल गुलाटी, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका सुशील कुरील सहित स्थानीय लोगों ने जोरदार स्वागत किया और मशीन का शुभारंभ किया, जिसके बाद मशीन का ट्रायल लिया गया। ट्रायल के दौरान स्थानीय लोगों के साथ ही तीर्थयात्री भी मशीन को देखने को लेकर उत्सुक दिखे। मशीन का सफल ट्रायल होने के बाद डीएम डाॅ गहरवार के साथ ही स्थानीय लोगों एवं तीर्थयात्रियों ने खुशी व्यक्त की।
जिला पर्यटन विकास अधिकारी राहुल चैबे ने बताया कि चारधाम यात्रा के लिहाज से केदारनाथ प्रमुख स्थल है। यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या काफी ज्यादा है। भारी वाहनों का दबाव होने के साथ ही पैदल यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ भी अधिक है। ऐसे में चारधाम यात्रा मार्ग को साफ सुथरा रखने को लेकर जिला प्रशासन के प्रयासों से पर्यटन विभाग ने रोड स्वीपिंग मशीन कोयंबुत्तूर तमिलनाडू से मंगाई है। यह रूस कंपनी की मशीन है, इसका इंडिया में भी प्लांट है। चारधाम यात्रा मार्गों के तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि, रुद्रप्रयाग, गुप्तकाशी, फाटा, गौरीकुंड, सीतापुर सहित अन्य पड़ावों में डस्ट, प्लास्टिक कचरे के साथ ही गंदगी फैले होने पर इस मशीन की मदद से साफ किया जायेगा। इससे यात्रा मार्ग साफ सुथरा रहेगा और देश-विदेश से यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं में भी अच्छा संदेश जाएगा।