27 May 2024

स्वीकृति के 15 साल बाद भी नहीं बनी सड़क ग्रामीणों में आक्रोश, चुनाव आयुक्त व जिला निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन भेज कर किया चुनाव बहिष्कार का एलान

देवाल (चमोली)। चमोली जिले के देवाल विकास खंड के कुलिंग गांव से दिदिना तोक में विस्थापित ग्रामीणों के लिए वर्ष 2008-09 में स्वीकृत सड़क 15 साल बाद भी न बनने से ग्रामीणों ने रोष व्यक्त करते हुए बुधवार को उपजिलाधिकारी थराली के माध्यम से एक ज्ञापन चुनाव आयुक्त और जिला निर्वाचन अधिकारी को भेजकर लोक सभा चुनाव में मतदान न करने का एलान किया।

ग्राम प्रधान कुलिंग हुकम सिंह बिष्ट का कहना है कि आपदा के कारण कुलिंग के 65 परिवारों का विस्थापन गांव के पास ही दिदिना तोक में किया गया है। विस्थापित गांव दिदिना पहुंचने के लिए तीन किलोमीटर की चढाई और तीन किलोमीटर की उतराई के साथ ही जंगल का रास्ता पार करना पड़ता है। ऐसे में ग्रामीणों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अक्टूबर 2023 में वर्तमान जिलाधिकारी की ओर से गांव में चौपाल का आयोजन कर गांव की समस्याओं सुना था। तथा गांव में प्राथमिक विद्यालय, आंगनबाडी भवन, पंचायत भवन बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए थे। कुछ समस्याओं के समाधान हुआ लेकिन सड़क निर्माण का कार्य वर्तमान समय तक शुरू नहीं हो पाया है। सड़क के अभाव में ग्रामीणों को अपने रोजमार्रा के सामान के साथ ही बीमारी की अवस्था में महिलाओं, बुजुर्गों को पीठ में अथवा डंडी कंडी में ले जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि हर बार उन्हें झुठे आश्वासन देकर छला जा रहा है। जिससे ग्रामीणों को खासा रोष व्याप्त है। उन्होंने कहा कि ऐसे में ग्रामीणों ने लोक सभा चुनाव में मतदान न करने का मन बनाया है। उन्होंने चुनाव आयुक्त और जिला निर्वाचन अधिकारी से मांग भी की है कि उनके गांव में पोलिंग पार्टी को न भेजा जाए ताकि पोलिंग पार्टी पर होने वाला खर्चा बच सके।

You may have missed