13 April 2024

गांव के प्रवेश द्वार पर देवराड़ा के ग्रामीणों ने लगाया बोर्ड, चुनाव प्रचार वर्जित

-देवराड़ा के ग्रामीण हाथों में काले झंडे लेकर गांव के प्रवेश द्वार पर दे रहे पहरा

-ग्रामीण कर रहे देवराडा वार्ड को नगर पंचायत से ग्राम पंचायत में शामिल करने की मांग

थराली (चमोली)। चमोली जिले के थराली नगर पंचायत थराली के देवराड़ा वार्ड के वासियों ने चुनाव के दौरान किसी भी प्रत्याशी को अपने गांव के अंदर न घुसने की चेतावनी दी है। ग्रामीणों ने गांव के सभी रास्तों पर गांव नहीं तो वोट नहीं के बोर्ड लगाकर पहरेदारी करने लग गए हैं ताकि चुनाव प्रचार के लिए किसी भी दल का प्रत्याशी गांव में न प्रवेश न कर सके।

गौरतलब है कि नगर पंचायत थराली के देवराडा वार्ड के निवासी एक लंबे समय से देवराडा वार्ड को नगर पंचायत से हटाकर पुनः ग्राम पंचायत में शामिल करने की मांग करते आ रहे है। लेकिन उनकी मांग पर कोई गौर न होने के चलते ग्रामीणों ने अब चुनाव बहिष्कार के साथ ही किसी भी दल के प्रत्याशी को गांव में प्रवेश न करने देने के लिए गांव के रास्तों में पहरा दे रहे है।

स्थानीय निवासी वीरेंद्र सिंह रावत, अब्बल सिंह गुसांई, लाल सिंह गुसांई, पप्पू बाबा जनधारी, पूर्व पार्षद सीमा देवी, महिला मंडल अध्यक्ष गौरा देवी आदि का कहना है कि बताया लंबे समय से ग्रामीण नगर पंचायत में सम्मिलित होने का विरोध कर रहे थे लेकिन उन्हें जबरन नगर पंचायत में सम्मिलित किया गया जिस कारण लोगों को मनरेगा जैसे रोजगार से वंचित होना पड़ रहा है नगर पंचायत बनने के बाद गांव की स्थिति बद से बदत्तर हो गई है। शहरी विभाग की ओर से कृषि बाहुल्य गांव में कई प्रकार के टैक्स लगाए जा रहे हैं। गांव में जो भी कार्य किया जा रहे हैं वह ठेकेदारो की ओर से किए जा रहे हैं। जिस कारण ग्रामीण पुनः ग्राम पंचायत में सम्मिलित किए जाने की मांग कर रहे हैं ग्रामीणों का कहना है अगर लोकसभा चुनाव से पूर्व ग्रामीणों की बात नहीं सुनी जाती है तो वे लोकसभा चुनाव का पूर्ण बहिष्कार करेंगे।

इधर, उप जिलाधिकारी थराली अबरार अहमद ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में है ग्रामीणों से वार्ता कर मामले को सुलझा लिया जाएगा उनकी मांगों पर विचार किया जा रहा है।