22 June 2024

उत्तरकाशी : बोरिंग से मिल गया पानी, दूर होगी बड़कोट में पेयजल किल्लत – दीपक बिजल्वाण

बड़कोट: जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण की मेहनत रंग लाई है। बड़कोट नगर पालिका क्षेत्र में लोगों को पानी की किल्लत से जल्द राहत मिलने वाली है। दीपक बिजल्वाण ने यात्रा मद से जल संस्थान को पिछले दिनों बोरिंग करने के लिए 20 लख रुपए उपलब्ध कराए थे। बोरिंग करने के बाद जल संस्थान को सफलता हाथ लगी है। जिस स्थान पर पानी के लिए बोरिंग की गई, वहां पर पानी मिल गया है। ऐसे में कुछ ही दिनों में नगर पालिका क्षेत्र में लोगों को पानी की समस्या से राहत मिल जाएगी। जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण का कहना है कि उनका उद्देश्य लोगों को जल संकट से उबारना है।

उनका कहना है कि नगर पालिका क्षेत्र बड़कोट के लोगों को पीने के पानी के लिए जूझना पड़ रहा था। उसके समाधान के लिए उन्होंने पहले ही कहा था कि समस्या का समाधान निकाल लिया जाएगा। आज जिस तरह से बोरिंग करके पानी मिल गया है, उसे जल्द मुख्य पेयजल लाइन से जोड़कर लोगों को पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

उनका कहना है कि बड़कोट नगर पालिका यमुनोत्री यात्रा का मुख्य पड़ाव है और यात्रा से पहले पानी का समाधान करना उनकी प्राथमिकता में था। यही वजह थी कि उन्होंने यात्रा मद से 20 लख रुपये देने में देरी नहीं की। उन्होंने इस मसले पर राजनीति करने वालों को भी आड़े हाथों लिया।

उनका कहना है कि लोग समस्या के समाधान के बजाय राजनीति करने में मशगूल हैं। जबकि उनका लक्ष्य लोगों की समस्या का समाधान आज भी है और आगे भी ऐसा ही करते रहेंगे। दीपक बिजल्वाण ने कहा कि जिन लोगों को यह लगता था कि दीपक विधायक बनने के बाद पुरोला क्षेत्र के लिए काम करेगा, आज उन लोगों को इस बात का जवाब मिल गया होगा।

दीपक ने अपने राजनीतिक विरोधियों को भी चेताया। उनका कहना है कि अगर उन्हें राजनीति ही करनी है तो वह स्वस्थ राजनीति करें। झूठ और लोगों को बरगलाने की राजनीतिक ज्यादा नहीं चलने वाली है। उनका कहना है कि जनता अब समझने लगी है कि उन्हें क्या करना चाहिए और क्या नहीं। कहा की नगरपालिका क्षेत्र बड़कोट हो या फिर चिन्यालीसौड़। चिन्यालीसौड़ की पेयजल समस्या का पूर्ण समाधान पहले ही कर चुके हैं। अब नगर पालिका बड़कोट की पंपिंग पेयजल योजना के लिए बहुत जल्द शासन स्तर पर सरकार से लंबित पेयजल योजना को शुरू करने का अनुरोध करेंगे। जरूरत पड़ने पर जन आंदोलन भी किया जाएगा।