19 April 2024

देश में जब भी बदलाव आता है, उसका तूफान बिहार से होता है शुरू – राहुल गाँधी

  • लागा-लागा झुलानिया.. गाकर जुटी भीड़ से लालू ने कहा, ऐसा धक्का लगाइए कि दिल्ली में सरकार बने
  • देश में जब भी बदलाव आता है, उसका बिहार से तूफान शुरू होता है : राहुल गाँधी
  • पीएम मोदी को भाजपा में परिवार वाद नहीं दिखता : तेजस्वी यादव
  • भाजपा सरकार को हटाये बिना धर्म निरपेक्ष देश नहीं बनाया जा सकता : मल्लिकार्जुन खड़गे
  • अगर यूपी -बिहार की 120 सीट पर भाजपा को हरा दिया जाए तो केंद्र में भाजपा की सरकार नहीं बन सकती : अखिलेश यादव
  • कांग्रेस के राहुल गांधी, सपा प्रमुख अखिलेश यादव, राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद , नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, माकपा के सीताराम येचुरी , भाकपा के डी राजा समेत आधा दर्जन विपक्षी दलों के तमाम शीर्ष नेताओं ने की भागीदारी

पटना (विजय शंकर/विश्वपति)। खराब मौसम और निरंतर हो रही बूंदाबांदी, बारिश के बावजूद पटना के गांधी मैदान में रविवार को लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। राजद खासकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव की ओर से आहूत जन विश्वास महारैली में आज इंडी गठबंधन के तमाम नेता जुट गए। मौके पर सभी नेताओं ने भाजपा और केंद्र सरकार की नीतियों की जमकर आलोचना की और अगले लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को हटाने और इंडी गठबंधन को विजयी बनाने का संकल्प लिया। पटना के गांधी मैदान में हिंदी गठबंधन के नेताओं का जमावड़ा हुआ और नेताओं ने लोकसभा चुनाव में बिहार की सभी 40 सीटों पर से भाजपा की एनडीए को हराने का आह्वान किया और कहा कि जब भी देश में कोई परिवर्तन होते हैं तो उसकी शुरुआत बिहार से होती है और इस बार भी बिहार में इसकी शुरुआत होगी । पटना के जन विश्वास महारैली में विपक्षी नेताओं का जमावड़ा हुआ जिसमें कांग्रेस के राहुल गांधी और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव, राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव,पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव और पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव समेत वाम दलों के दिग्गज नेता डी राजा, सीताराम येचुरी, दीपंकर भट्टाचार्य, भाकपा के अवधेश राय शामिल हुए । खराब मौसम के बावजूद गांधी मैदान में अपार भीड नजर आई ।

 

इस मौके पर राजद सुप्रीमो लालू यादव ने कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नफरत फैला रहे हैं । बिहार को वाजिब हक नहीं मिल रहा है । बिहार में जो फैसला जनता लेती है वही देश के लोग भी करते हैं । मेरा किडनी का ट्रांसप्लांट हुआ है और बेटी रोहिणी ने किडनी दिया है जिसके बल पर हम आज चल रहे हैं । बीमार हैं पर बीमार नहीं है । तेजस्वी काफी मेहनत कर रहे हैं । लोगों को रोजी रोजगार नौकरी तेजस्वी ने दिया है और चुनाव के समय जो 10 लाख नौकरी देने का वादा किया था, उसको पूरा करने का काम किया है । रोज हम तेजस्वी से नौकरी के बारे में पूछते थे और लगता था कि तेजस्वी अच्छा काम कर रहे हैं । नीतीश कुमार पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि हमने उनसे कोई गाली गलौज नहीं किया है, सिर्फ पलटू राम कहते हैं । नीतीश को दोबारा हम लोगों ने लिया, यह गलती हो गयी , यह गलती तेजस्वी से हो गई है । नीतीश कुमार को शर्म करनी चाहिए । गांधी मैदान में जुटी अपार भीड़ देखकर नीतीश कुमार को और प्रधानमंत्री मोदी को भी सोचना चाहिए । उन्होंने गांधी मैदान में जुटे लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि भाजपा को इस बार हराना है और दिल्ली की कुर्सी पर इंडी गठबंधन को बिठाना है । उन्होंने कहा नीतीश जब पाला बदलने वाले थे तो तेजस्वी को पता लग गया था, जो सरकार बनी थी उसने कोई गलती, गलत काम नहीं हुआ है । लगा लगा झुलनिया में धक्का बलम कोलकाता पहुंच गईल,… यह कहते हुए उन्होंने गांधी मैदान में जुटी भीड़ से कहा, ऐसा धक्का लगाइए कि दिल्ली में सरकार बने, सभी अत्यंत पिछडे दलित वर्ग के लोगों के पास जाइए और इस बार बिहार के सभी 40 सीटों पर भाजपा को हटाइए ।

 

उन्होंने कहा, राहुल गाँधी , उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सब मिलकर दिल्ली पर कब्जा करना है और यह कहकर उन्होंने लोगों से हाथ उठाकर सहमति भी ले ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बार बार परिवारवादी राजनीति पर टिप्पणी करने पर राजद सुप्रीमो लालू यादव ने रविवार को जोरदार हमला किया‌ । उन्होंने गांधी मैदान में आयोजित जन विश्वास महारैली में कहा कि मोदी कोई चीज नहीं है। मोदी के पास तो परिवार ही नहीं है‌। उन्होंने अपने अंदाज में कहा, ‘अरे भाई तुम बताओ ना कि तुम्हारे परिवार में कोई संतान क्यों नहीं हुआ। ज्यादा संतान होने वाले लोगों को बोलता है कि परिवारवाद है। परिवार के लिए लड़ रहा है। तुम्हारे पास तो परिवार ही नहीं है.’ उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी तो हिंदू भी नहीं है। मोदी की माताजी का जब निधन हुआ तो सबने देखा कि मोदी ने माँ की मौत के बाद भी बाल-दाढ़ी नहीं बनवाया।

जन विश्वास महारैली में कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने कहा कि  देश में जब भी बदलाव आता है। उसका बिहार से तूफान शुरू होता है। बिहार से तूफान बाकी प्रदेशों में जाता है। उन्होंने कहा की आज देश में विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ नफरत, हिंसा, अहंकार और दूसरी तरफ मोहब्बत, भाईचारा और एक दूसरे की इज्जत है। जैसा मैंने यात्रा में कहा कि अगर आप गठबंधन को समझना चाहते हो तो एक लाइन में समझा जा सकता है। हम नफरत की बाजार में मोहब्बत की दुकान खोलते हैं।  राहुल गांधी ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल ने रैली को संबोधित करते हुए दावा किया कि देश से बीजेपी और आरएसएस को हटाकर इंडी गठबंधन की सरकार बनाएंगे। कांग्रेस के राहुल गांधी ने कहा कि देश में नफरत फैलाने का काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं । देश में जब भी बदलाव आता है तो शुरुआत बिहार से होती है बिहार से जो तूफान उठा है उसे देश की सत्ता बदलती है । एक तरफ अहंकार है तो दूसरी तरफ भाईचारा है । इंडी गठबंधन नफरत की बाजार में मोहब्बत की दुकान खोलता है, खोल रही है । बेरोजगारी का मुद्दा पूरे देश में है । युवाओं किसानों को न्याय नहीं मिल रहा है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ दो-तीन बड़े अरबपतियों के लिए काम करते हैं और उन्होंने लाभ उन्हें ही लाभ पहुंचाते हैं, किसानो, मजदूर के लिए कुछ नहीं करते । उन्होंने दिल्ली की सरकार को बदलने का आह्वान जनता से किया । बड़ा सवाल है कि इस देश में नफरत क्यों फैल रही है। नफरत का सबसे बड़ा कारण देश में अन्याय है। युवाओं के खिलाफ अन्याय, किसानों के खिलाफ अन्याय, सामाजिक और आर्थिक अन्याय। देश के प्रधानमंत्री दो-तीन अरबपतियों के लिए काम करते हैं। उनका 16 लाख करोड़ रुपया प्रधानमंत्री ने पिछले 10 वर्षों में माफ कर दिया लेकिन उन्होंने देश के किसानों का कितना कर्ज माफ किया ?

राहुल गाँधी ने कहा कि चालिस साल से सबसे अधिक बेरोजगारी हिंदुस्तान में है क्योंकि बीजेपी ने छोटे व्यापारियों को, किसानों को सुक्ष्म और लघु उद्योगों को नष्ट कर दिया है। एक तरफ नोटबंदी की और दूसरी तरफ जीएसटी लागू कर दिया। नतीजा ये हुआ कि जो लोग इस देश को रोजगार देते हैं सुक्ष्म और लघु उद्योग वाले उन सबका काम बंद हो गया। पूरे देश में बड़े उद्योगपतियों की मनोपॉली चल रही है। कांग्रेस सांसद ने कहा कि एक उद्योगपति के हाथ में देश के सारे के सारे पोर्ट, एयरपोर्ट, इन्फ्रास्टक्चर सभी चीजों को नरेंद्र मोदी ने एक उद्योगपति के हाथ में थमा दिया। आप लोगों के लिए इस देश में कुछ नहीं बचा है। इस देश में पिछड़ी जाति, अति पिछड़ा दलितों की 73 फीसदी आबादी है लेकिन पूरे देश की सबसे बड़ी कंपनियों में उनकी मालिकों की लिस्ट निकाल लीजिए उसमें एक व्यक्ति भी 73 फीसदी वाला नहीं मिलेगा। मीडिया के मालिकों की लिस्ट भी निकाल लीजिए, 73 प्रतिशत वालों में से एक नहीं मिलने वाला है। प्राइवेट स्कूल कॉलेज और अस्पताल, कॉलेज चलाने वालों की लिस्ट निकाल लीजिए, उसमें भी 73 फीसदी वालों में से कोई नहीं मिलेगा। आईएएस की लिस्ट निकाल लीजिए उसमें सिर्फ तीन पिछड़े वर्ग के लोग मिलेंगे, तीन दलित और एक आदिवासी मिलेगा। देश की सरकार बजट पर अगर 100 रुपए खर्च करती है तो 73 फिसदी वालों को सिर्फ 6 रुपए की हिस्सेदारी मिलती है। वहीं सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को देख लिया जाए तो उनके लिए इस देश में कोई रास्ता नहीं बचा है।

राहुल गांधी ने कहा कि पब्लिक सेक्टर में पहले गरीबों को रास्ता मिलता था, सरकार में रोजगार और नौकरी मिल जाती थी। जैसे बिहार में तेजस्वी और छत्तीसगढ में हमारी सरकार ने किया लेकिन नरेंद्र मोदी ने ये सभी रास्ते बंद कर दिए। सेना में अग्निवीर लागू कर दिया। पहली बार देश में दो तरह के शहीद होंगे। एक शहीद होगा तो उसे शहीद का दर्जा मिलेगा और सम्मान दिया जाएगा और दूसरा अग्निवीर शहीद होगा तो उसे न तो शहीद का दर्जा मिलेगा और ना ही सम्मान। बीजेपी के लोगों को गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए। हमलोग बीजेपी और आरएसएस से नहीं डरते हैं। हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है। हम देश के लिए लड़ते और मरते हैं। बीजेपी और आरएसएस को हटाकर इंडिया की सरकार बनाकर दिखाएंगे।

इसके पहले पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आड़े हाथों लिया‌। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी कहते हैं कि विपक्षी दलों में परिवारवादी पार्टियाँ हैं। जबकि पीएम मोदी को भाजपा में परिवार वाद नहीं दिखता है। एक दिन पहले मोदी बिहार आए तो मंच पर उनके साथ सकुनी चौधरी के बेटे सम्राट चौधरी बैठते हैं। रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस बैठे हैं। जीतन राम मांझी के बेटे संतोष कुमार सुमन को मंत्री बना दिया। उन्हें भाजपा का यह परिवारवाद नहीं दिखता है। भाजपा में ऐसे परिवारवादी नेताओं की भरमार है। उन्होंने कहा , जो काम 17 सालों में नहीं हुआ वह काम मैंने 17 महीने में करके दिखाया है और 5 लाख सरकारी नौकरियां दी है । उन्होंने जनता से पूछा की चुनाव के दौरान 10 लाख नौकरी देने का वादा कौन कर रहा था । उन्होंने नीतीश कुमार पर तंज करते हुए कहा कि जब चुनाव में मैंने  10 लाख नौकरी देने का वादा किया था तो यही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते थे कि पैसा कहां से लाएगा । लेकिन मैंने अपने मिशन पर काम किया और 5 लाख लोगों को सरकारी नौकरी दे दी । सरकार रहती तो 10 लाख का टारगेट भी पूरा हो जाता ।

सभा को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने जनता से केंद्र में भाजपा सरकार को हटाने का आह्वान किया और कहा कि भाजपा सरकार को हटाये बिना धर्म निरपेक्ष देश नहीं बनाया जा सकता ।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की सरकार उत्तर प्रदेश की 80 सीट और बिहार की 40 सीट मिलकर 120 सीट जीतने का दावा करती है, अगर इस 120 सीट पर भाजपा को हरा दिया जाए तो केंद्र में भाजपा की सरकार नहीं बन सकती । उन्होंने बिहार के लोगों को सभी 40 सीटों पर भाजपा को हराने का आह्वान किया और कहा कि उत्तर प्रदेश में भी सभी 80 सीटों पर भाजपा को हराने के लिए लगे हुए हैं । उन्होंने कहा कि देश में एक तरफ संविधान के रक्षक हैं तो दूसरी तरफ संविधान के भक्षक है । इस बार मोदी सरकार को लोकसभा चुनाव में इंडी गठबंधन सबक सिखाएगी।

जन विश्वास महारैली को वाम दल के सभी प्रमुख नेताओं ने संबोधित किया जिसमें डी राजा, सीताराम येचुरी , माले के दीपांकर भट्टाचार्य, भाकपा के अवधेश राय, सांसद मोहम्मद इकबाल करीम, सांसद जयप्रकाश नारायण यादव, बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, अवध बिहारी चौधरी, पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव आदि ने संबोधित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता राजद के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व मंत्री जगतानंद सिंह ने की जबकि कार्यक्रम का संचालन सांसद मनोज झा ने किया । इस मौके पर रामचंद्र पूर्वे , अशोक कुमार सिंह, शिवानंद तिवारी, राबड़ी देवी, श्याम रजक आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये।