12 June 2024

चमोली में 83 दिव्यांग और 237 वरिष्ठ मतदाताओं ने किया मतदान

-शेष तीन दिव्यांग और 22 वरिष्ठ मतदाता 10 अप्रैल को करेंगे मतदान

गोपेश्वर (चमोली)। चमोली जनपद में सोमवार को जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से होम वोटिंग के साथ मतदान को शुभारंभ किया गया। इस दौरान जनपद में  83 दिव्यांग और 239 वरिष्ठ मतदाताओं ने होम वोटिंग सुविधा के माध्यम से अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जबकि तीन दिव्यांग और 20 वरिष्ठ मतदाताओं के मतदान के लिए 10 अप्रैल को पुनः होम वोटिंग प्रक्रिया को संचालित करवाया जाएगा।

चमोली की की तीनों विधानसभा में 86 दिव्यांग और 259 वरिष्ठ नागरिकों सहित कुल 345 मतदाता होम वोटिंग से आज मतदान करेंगे। जिसमें बदरीनाथ विधानसभा क्षेत्र में 111, थराली विधानसभा में 116 और कर्णप्रयाग विधानसभा में 118 मतदाता शामिल है। होम वोटिंग के लिए बदरीनाथ विधानसभा में 19, थराली विधानसभा के लिए 14 तथा कर्णप्रयाग विधानसभा के लिए 22 सहित कुल 55 पोलिंग पार्टियां घर-घर भेजी गई। जिनके माध्यम से सोमवार को 86 दिव्यांग मे से 83 और 259 वरिष्ठ नागरिकों में से 239 ने मतदान किया। जबकि तीन दिव्यांग और 20 वरिष्ठ मतदाताओं के मतदान के लिए 10 अप्रैल को पुनः होम वोटिंग प्रक्रिया को संचालित करवाया जाएगा।

चमोली के दूरस्थ गांव कलगोठ में 85 वर्षीय दो बुजुर्ग महिलाओं ने होम वोटिंग से किया मतदान

दूरस्थ गांव कलगोठ में 85 वर्ष से अधिक दो बुजुर्ग महिला मतदाता बालखी देवी और विमला देवी ने होम वोटिंग के तहत पोस्टल बैलेट से अपने घर पर ही मतदान किया। कलगोठ में तीन मतदाताओं ने होम वोटिंग के लिए आवेदन किया था, लेकिन एक मतदाता इन्द्रा देवी घर से अनुपस्थित मिली। जिनके मतदान के लिये 10 अप्रैल को पुनः पोलिंग पार्टी गावं पहुंचेगी। इस मौके पर सेक्टर मजिस्ट्रेट एसपी मैठाणी, प्रथम मतदान अधिकारी रंजीत सिंह रावत, द्वितीय मतदान अधिकारी विवेकानंद किमोठी, माइक्रो आब्जर्वर उपेंद्र सिंह और बीएलओ रामेश्वरी रावत आदि मौजूद थे।

पर्यावरणविद् चंडी प्रसाद भट्ट ने भी किया होम वोटिंग से मतदान

चिपको आन्दोलन के प्रणेता और महात्मा गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित पर्यावरणविद् चंडी प्रसाद भट्ट ने भी चुनाव आयोग की ओर से संचालित होम वोटिंग सुविधा का प्रयोग कर होम वोटिंग से मतदान किया। उन्होंने 19 अप्रैल को होने वाले मतदान में सभी मतदाताओं से अपने मताधिकार के प्रयोग का आह्वान भी किया।