16 June 2024

सूचना एवं प्रसारण सचिव और आयुष सचिव ने की अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024 की लोक-संपर्क गतिविधियों की तैयारियों की समीक्षा

  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मीडिया सम्मान पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे
नई दिल्ली : सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और आयुष मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024 के आयोजन की तैयारियां शुरू कर दी हैं। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव संजय जाजू और आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने आज यहां 21 जून को प्रतिवर्ष मनाए जाने वाले आगामी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024 के लिए मीडिया तथा लोक-संपर्क गतिविधियों की समीक्षा की।
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की मीडिया इकाइयां योगाभ्यास के लाभों के बारे में जागरूकता के साथ-साथ कॉमन योग प्रोटोकॉल (सीवाईपी) के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए विभिन्न प्रकार की कार्यक्रम आधारित गतिविधियों का आयोजन करने की तैयारी कर रही हैं। पत्र सूचना कार्यालय, प्रसार भारती,  न्यू मीडिया विंग और अन्य सहित विभिन्न मीडिया इकाइयों द्वारा प्रमुख गतिविधियों की योजना बनाई गई है।
लोक सेवा प्रसारक, प्रसार भारती दूरदर्शन (डीडी)/ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) नेटवर्क के माध्यम से विभिन्न कार्यक्रमों का प्रसारण करेगा। दूरदर्शन विशेष प्रत्यक्ष प्रातः कालीन कार्यक्रमों के साथ-साथ योग विशेषज्ञों के साथ कार्यक्रम/साक्षात्कार भी प्रसारित करेगा। आकाशवाणी आयुष मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संगठन ‘मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान’ के सहयोग से योग को जीवन शैली के रूप में बढ़ावा देने तथा लोगों के समग्र स्वास्थ्य के लिए कार्यक्रम प्रसारित करेगा। आयुष मंत्रालय ने एक ‘योग गीत’ तैयार किया है, जिसे सभी मीडिया प्लेटफार्मों पर साझा किया जाएगा।
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मीडिया सम्मान (एवाईडीएमएस) के साथ निजी मीडिया संगठनों को प्रोत्साहित करने की पहल जारी रखेगा। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने योग का संदेश प्रसारित करने के मद्देनजर प्रिंट, टीवी और रेडियो के मीडिया घरानों/कंपनियों के योगदान को मान्यता देने के लिए नौ जून, 2023 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मीडिया सम्मान (एवाईडीएमएस) की स्थापना की थी। पुरस्कार श्रेणियों में ‘अखबार में योग पर सर्वश्रेष्ठ मीडिया कवरेज’, ‘इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (टीवी) में योग पर सर्वश्रेष्ठ मीडिया कवरेज’ और ‘इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (रेडियो) में योग पर सर्वश्रेष्ठ मीडिया कवरेज’ शामिल हैं। इस वर्ष के पुरस्कार, पिछले वर्ष के पुरस्कारों के साथ, समारोह के पूरा होने के बाद प्रदान किए जाएंगे।
न्यू मीडिया विंग (एनएमडब्ल्यू) सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सोशल मीडिया अकाउंट के माध्यम से ‘परिवार के साथ योग’ प्रतियोगिता जैसी गतिविधियां आयोजित करेगा, जो परिवारों को एक साथ योग करने और योग गीत का उपयोग करके रील अपलोड करने के आग्रह के रूप में होगी। ‘योग क्विज़- गेस द आसन’ का भी आयोजन किया जाएगा। आईडीवाई 2024 पॉडकास्ट जारी किया जाएगा। इसके अलावा, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की विभिन्न मीडिया इकाइयां और संगठन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से पहले योग पर सत्र/कार्यशालाएं आयोजित करेंगे। कर्मचारियों के बीच योग और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए इस वर्ष योग शिविर, सेमिनार आदि भी आयोजित किए जाएंगे।
21 जून को “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” के रूप में मान्यता दिए जाने के बाद अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उत्सव का दायरा और स्तर हर साल बढ़ता जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योग को दुनिया भर में ले जाने के सरकार के प्रयासों में अग्रणी रहे हैं। 2023 के 9वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर, प्रधानमंत्री ने 2023 में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में उत्सव का नेतृत्व किया था, जिसमें 135 देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था। योग उत्सव में 135 देशों की भागीदारी के साथ गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया गया था। इस कार्यक्रम को नई पहलों के साथ बड़े पैमाने पर भी मनाया गया। मध्य प्रदेश के जबलपुर में आयोजित मुख्य राष्ट्रीय कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ की उपस्थिति में 15,000 से अधिक उत्साही प्रतिभागियों ने कॉमन योग प्रोटोकॉल (सीवाईपी) का प्रदर्शन किया।
इसके अलावा, ‘ओशन रिंग ऑफ योग’ में 34 देशों के 19 जहाजों के नौसैनिकों ने रक्षा, विदेश मंत्रालय, पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालयों के सहयोग से योग प्रदर्शनों में भाग लिया। आर्कटिक से लेकर अंटार्कटिका तक योग प्रदर्शन आयोजित किए गए, जिसमें भारत के अनुसंधान केंद्र हिमाद्री और भारती शामिल थे। भारतीय सशस्त्र बलों ने ‘योग भारतमाला’ बनाया और तटीय प्रदर्शनों को ‘योग सागरमाला’ नाम दिया गया। जमीनी स्तर पर, ‘हर आंगन योग’ पहल ने ग्रामीण समुदायों को जोड़ा, पंचायतों, आंगनवाड़ी केंद्रों और स्कूलों में योग सत्र आयोजित किए, जिसमें लगभग 200,000 स्थानों को शामिल किया गया। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2023 में अनुमानित भागीदारी 23.4 करोड़ थी।